भोजपुरी स्टार अरविन्द अकेला 'कल्लू' पर हुआ था जानलेवा हमला, इस एक्ट्रेस के साथ चल रहा है अफेयर

भोजपुरी स्टार 'अरविन्द अकेला कल्लू उर्फ 'कलुआ' की पर्सनल लाइफ को काफी कम लोग ही जानते होंगे। तो चलिए आपको बताते हैं इस एक्टर की निजी जिंदगी से जुड़े कुछ अनसुने किस्से...

img

By Shashwat Mishra Last Updated:

भोजपुरी स्टार अरविन्द अकेला 'कल्लू' पर हुआ था जानलेवा हमला, इस एक्ट्रेस के साथ चल रहा है अफेयर

किसी भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए मेहनत, हुनर और चाहत बहुत जरूरी है। अगर ये तीन गुण किसी भी व्यक्ति में मौजूद हों, तो उसे सफलता प्राप्त करने से कोई रोक नहीं सकता। शायद, इन्हीं तीन गुणों की वजह से आज एक छोटे से गांव का 'कल्लू' भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार 'अरविन्द अकेला कल्लू' के नाम से जाने जाते हैं। भोजीवुड़ के इस नगीना को परिभाषित करने के लिए एक ही कहावत है, ''होनहार बिरवान के होत चिकने पात।'' कल्लू ने बहुत छोटी-सी उम्र में गाना शुरू कर दिया था। इन्हें प्रसिद्धि भी जल्दी मिल गई थी। 

भोजपुरी सुपरस्टार 'अरविन्द अकेला कल्लू उर्फ कलुआ' की पर्सनल लाइफ को काफी कम लोग ही जानते होंगे। तो चलिए आपको बताते हैं इस एक्टर की निजी जिंदगी से जुड़े कुछ अनसुने किस्से...

शुरुआती ज़िंदगी

अपने गानों से लोगों के दिलों में घर करने वाले एक्टर व सिंगर अरविंद अकेला उर्फ 'कल्लू' का जन्म 26 जुलाई 1997 को बिहार के बक्सर जिले के अहिरौली गांव में हुआ था। इनके पिता का नाम चुनमुन चौबे और माता का नाम किरण देवी है। चुनमुन चौबे की चुनमुन चौबे की अपने गांव के मोड़ पर ही रिक्शे की दुकान थी, जिसकी कमाई से वो अपने परिवार का पूरा खर्च उठाते थे। अकेला ने अपना बचपना अपने गांव (अहिरौली) में ही बिताया था। उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई-लिखाई भी बक्सर जिले से ही की थी, लेकिन इनकी रुचि पढ़ाई से ज्यादा गाने में थी। इसलिए, दसवीं कक्षा तक पढ़ने के बाद कल्लू ने आगे न पढ़ने का निर्णय लिया। पढ़ाई से मोह भंग होने का एक मात्र कारण इनका गायिकी की तरफ़ रुझान था। (ये भी पढ़ें: रवि किशन की लव स्टोरी: 11वीं क्लास में ही एक्टर को हो गया था प्यार, कुछ ऐसी है प्रेम कहानी)

मां ने पहचाना हुनर, सुबह 5 बजे जाते थे संगीत सीखने 

दसवीं कक्षा तक पढ़ने वाले भोजपुरी सिंगर व एक्टर कल्लू की गायिकी का हुनर उनकी मां ने पहचाना। दरअसल, घर में अंताक्षरी खेलते हुए कल्लू बहुत सुरीला गाते थे, जो उनकी मां को भी बेहद पसंद आता था। वो इनकी मां ही थीं जिन्होंने कल्लू के पिता से अपने बेटे को मंच पर गाना गवाने के लिए कहा था। इसके बाद जब कल्लू ने मंच पर गाना गाया, तो पूरा गांव खुलकर नाचने लगा और कल्लू की ख़ूब प्रशंसा की। इसके बाद से ही उनके पिता कल्लू को लेकर पास के महदर गांव में संगीत सिखाने ले जाने लगे। कल्लू को रोजाना सुबह 5 बजे पास के गांव में जाना पड़ता और उसके बाद वो स्कूल जाते। स्कूल से लौटने के बाद भी कल्लू शांत नहीं बैठते थे, वो अपने पिता की दुकान पर कुछ म्यूजिशियन के साथ रिदम पर गाने की रिहर्सल किया करते थे।

12 साल की उम्र में हुआ था जानलेवा हमला 

'माई हो तनी आ जईतु लव के टॉनिक', 'जाए न देहब ये जान' और 'पियवा बांटेला कमाई पाटीदार' जैसे हिट गाने गा चुके सिंगर व एक्टर अरविन्द अकेला पर एक बार जानलेवा हमला हुआ था। उस वक़्त उनकी उम्र महज 12 साल ही थी। कल्लू ने मात्र 8 साल की उम्र से गाना शुरू कर दिया था, इसकी वजह से वह स्टेज शो भी करने लगे थे। साल 2009 में एक शो के दौरान ही कल्लू पर गोली चली थी, लेकिन, वह बाल-बाल बच गए थे। एक चैनल को दिए गए एक इंटरव्यू में कल्लू ने इसकी वजह बताते हुए कहा था कि 'शायद किसी ने उन्माद में फायर किया था और गोली छिटक कर मुझे लग गई थी।'

18 साल की उम्र में शुरू की थी एक्टिंग

अरविन्द अकेला उर्फ ‘कल्लू’ जिन्हें भोजीवुड़ में लोग 'कलुआ' के नाम से भी जानते हैं, इनको गाने तो बहुत कम उम्र में ही मिलने लगे थे। उन्होंने एल्बम, म्यूजिक वीडियोज, भजन और स्टेज परफार्मेंस देकर लोगों के दिलों में घर कर लिया था। महज 18 साल की उम्र में फिल्म 'दिल भईल दिवाना' से उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म ने उन्हें बतौर एक्टर भोजपुरी में स्थापित भी कर दिया था। हालांकि, संघर्ष कम नहीं हुआ था। निर्माता अभी भी उन्हें कम उम्र का समझकर गंभीर रोल देने से कतरा रहे थे, पर कल्लू ने हार नहीं मानी और नतीजा आज हम सबके सामने है। आज के टाइम में कलुआ के ऊपर कोई भी डायरेक्टर-प्रोड्यूसर पैसा लगाने से पीछे नहीं हटता है। (ये भी पढ़ें: पवन सिंह की पर्सनल लाइफ: पहली शादी के कुछ ही दिन बाद पत्नी ने कर ली थी आत्महत्या, ऐसी है स्टोरी)  

अरविंद अकेला कैसे बन गए 'कल्लू'

महज 9 साल की उम्र में अरविंद अकेला ने 'गुड़िया जापानी' और 'लव के टॉनिक पियल करा' जैसे गाने गाकर भोजीवुड में कदम रखा था। लेकिन, लोगों के बीच ये 'कल्लू' नाम से जाने जाते हैं। इनके फैन्स भी इन्हें इसी नाम से बुलाते हैं। अरविंद अकेला का 'कल्लू' नाम पड़ने के पीछे एक बेहद दिलचस्प कहानी है। 

‘टाइम्स नाउ हिंदी’ को दिए एक साक्षात्कार में अरविंद अकेला ने अपने 'कल्लू' नाम पड़ने का क़िस्सा सुनाया था। उन्होंने कहा था कि ''मैं प्रीमैच्योर बेबी के रूप में पैदा हुआ था और बिल्कुल काली रंगत का था। मेरे बचने के चांसेस भी नहीं थे, लेकिन मैं बच गया था। मेरे पापा ने मेरी रंगत देखकर मेरा नाम कल्लू रखा था, जो बाद में मेरी पहचान बन गया।''

यामिनी सिंह के साथ चल रहा है अफेयर 

भोजपुरी इंडस्ट्री की क्यूटेस्ट गर्ल यामिनी सिंह को कल्लू की गर्लफ्रेंड माना जाता है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो दोनों इस वक़्त एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं। इन दोनों की मुलाकात भी एक फिल्म के दौरान हुई थी, जिसके बाद से दोनों एक संग देखे जाने लगे। कल्लू-यामिनी की म्यूजिक वीडियोज ने यूपी-बिहार में धमाल मचा रखा है। 'कहिया मम्मी बनाईबा', 'ये जी हम कुछ मदत कर दी' और फिल्म 'प्यार तो होना ही था' में इन दोनों की एक्टिंग व लुक्स के लोग आज तक दीवाने हैं। (ये भी पढ़ें: आम्रपाली दुबे की लाइफ स्टोरी: अभी तक नहीं की है शादी, 'निरहुआ' के ही साथ क्यों जुड़ता है नाम?)

अक्षरा सिंह के साथ अफेयर की उड़ी थी अफवाह 

भोजपुरी एक्टर अरविन्द अकेला कल्लू का नाम यूं तो बहुत सारी अभिनेत्रियों के साथ जोड़ा गया, लेकिन, बात अगर अक्षरा सिंह की न हो तो कैसे बात बनेगी? कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो अक्षरा सिंह और कलुआ रिलेशनशिप में थे, लेकिन इनका ये रिश्ता कुछ ही दिनों का था। उस वक़्त इन दोनों की एक फोटो भी वायरल हुई थी, जिसमें दोनों शादी के जोड़े में नज़र आ रहे थे। लोगों को यकीन भी हो गया था कि इन दोनों ने शादी रचा ली है, पर बाद में पता चला कि वो फोटो फिल्म ‘शुभ घड़ी आयो’ के सेट की थी, जिसमें दोनों साथ नज़र आए थे। फिलहाल, कलुआ इन दिनों अपनी आने वाली फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त हैं। वहीं, अक्षरा भी इन दिनों अपनी फिल्मों और फिटनेस पर ज्यादा ध्यान दे रही हैं।

सुपरस्टार पवन सिंह को मानते हैं अपना गुरु 

भोजपुरी सिनेमा में हर फिल्म से अपनी अलग छाप छोड़ने वाले एक्टर अरविन्द अकेला ने यूं तो लगभग सभी भोजपुरी एक्टर्स के साथ काम किया है। जिसमें सुपरस्टार हीरो पवन सिंह, मनोज तिवारी और निरहुआ का नाम आता है। लेकिन, कल्लू एक्टर व सिंगर पवन सिंह को अपना गुरु मानते हैं। इनके साथ कल्लू ने अपनी फिल्म पहली फिल्म ‘गठबंधन प्यार के’ में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम किया था। ‘टाइम्स नाउ’ को दिए गए एक इंटरव्यू में अरविन्द अकेला ने इस बात का खुलासा किया था। उन्होंने कहा था- ''पवन भईया से मेरा संबंध वही है जो द्रोणाचार्य का एकलव्य से था।''

हर फिल्म के लिए लेते हैं 20-25 लाख रुपये 

सैकड़ों सुपरहिट गानें गाकर पूरे उत्तर भारत को अपनी धुन पर नचाने वाले अरविंद अकेला कल्लू की एक झलक पाने को यूपी-बिहार में लोग बेताब रहते हैं। कल्लू को भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में सबसे कम उम्र में पैसा और शोहरत मिलने वाला शख़्स भी कहा जाता है। यूं तो कल्लू भोजपुरी सिनेमा जगत के सुपरस्टार हैं, लेकिन हर फिल्म में वो अपनी फ़ीस 20-25 लाख रुपये ही चार्ज करते हैं। वहीं, स्टेज शो 1-1.5 लाख रुपयों में करते हैं। ये भोजपुरी फिल्मों में सबसे ज्यादा फीस लेने वाले एक्टर्स की लिस्ट में छठवें पायदान पर आते हैं। इनसे ज्यादा फीस लेने वाले एक्टर्स की सूची में रवि किशन, मनोज तिवारी, पवन सिंह, खेसारी लाल यादव, दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' और रितेश पांडेय का नाम आता है। 

भोजपुरी सुपरस्टार 'अरविंद अकेला कल्लू' की ये स्टोरी आपको कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरुर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सुझाव हो तो हमें अवश्य दें।

फोटो क्रेडिट: (अरविंद अकेला कल्लू)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.