दिलीप कुमार इस शर्त पर हुए थे मधुबाला से अलग, दोनों की प्रेम कहानी का हुआ था दुखद अंत

अभिनेता दिलीप कुमार और अभिनेत्री मधुबाला की लव स्टोरी काफी दिलचस्प थी। लेकिन उनकी कहानी का कुछ ऐसा अंत हुआ कि दोनों को अपनी जिंदगी में अलग-अलग रास्ते चुनने पड़े।

img

By Deepali Srivastava Last Updated:

दिलीप कुमार इस शर्त पर हुए थे मधुबाला से अलग, दोनों की प्रेम कहानी का हुआ था दुखद अंत

प्रेम कहानी पूरी होने की मिसाल सभी देते हैं, इसके साथ ही अधूरी प्रेम कहानियों को भी लोग जेहन में रखते हैं। फिर चाहे वो कहानी 'हीर-रांझा' की हो या 'लैला-मजनूं' की। ऐसी ही कुछ अधूरी प्रेम कहानियां फिल्म इंडस्ट्री के कुछ मशहूर लोगों की भी रही हैं, जिसमें सबसे पहला नाम मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) और अभिनेत्री मधुबाला (Madhubala) का आता है। दिलीप कुमार और मधुबाला की लव स्टोरी काफी दिलचस्प थी, लेकिन उनकी कहानी का कुछ ऐसा अंत हुआ कि दोनों को अपनी जिंदगी में अलग-अलग रास्ते चुनने पड़े। तो यहां हम आपको दिलीप कुमार और मधुबाला की लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं, जो असफल रहीं। बेहद कम लोग जानते हैं कि ये प्रेम कहानी जो अधूरी रह गई।

दिलीप कुमार

आपको हम दिलीप कुमार और मधुबाला की प्रेम कहानी के बारे में बताएं, इससे पहले आप दिलीप कुमार की जिंदगी के बारे में कुछ जान लीजिए। अभिनेता दिलीप कुमार 11 दिसंबर 2020 को 98 साल के हो जाएंगे। दिलीप कुमार ने एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी हैं, जिसमें 'देवदास', 'नया दौर', 'मुगल-ए-आजम', 'जुगनू', 'शहीद' और 'दाग' जैसी तमाम फिल्में शामिल हैं। दिलीप कुमार को पद्मभूषण, दादा साहब फाल्के पुरुस्कार और पाकिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘निशान-ए-इम्तियाज़’ से भी नवाजा जा चुका है। 7 दिसंबर 2020 को दिलीप कुमार की पत्नी और अभिनेत्री सायरा बानो ने एक इंटरव्यू में अपने पति की हेल्थ को लेकर अपडेट दिया है। उन्होंने कहा, 'दिलीप कुमार कमजोर हैं और उनकी इम्यूनिटी भी कम है। दिलीप साहब के लिए दुआ करें।' सायरा बानो द्वारा दिलीप कुमार की सेहत का हाल जानकर फैंस ने सोशल मीडिया पर उनके स्वास्थ्य को लेकर दुआ मांगी। (ये भी पढ़ें: दादा-दादी बने मुकेश अंबानी व नीता अंबानी, बहू श्लोका मेहता ने दिया बेबी बॉय को जन्म)

इसके साथ ही दिलीप कुमार की जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव आए, जिनका उन्होंने डटकर मुकाबला किया। अभिनेता ने फिल्मों में काम करने से पहले ही अपना नाम बदल लिया था। उनका असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था, लेकिन एक्टर ने उसे बदलकर दिलीप कुमार रख लिया था। दिलीप कुमार ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1944 में फिल्म 'ज्वार भाटा' से की थी। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया। दर्शक उनकी एक्टिंग को खूब पसंद करते थे। दिलीप कुमार ने अपनी अधिकतर फिल्मों में दुख भरे रोल वाली भूमिकाएं निभाई थीं। इस कारण उन्हें फैंस ‘ट्रैजेडी किंग’ कहकर बुलाया करते थे। साल 1966 में दिलीप कुमार ने एक्ट्रेस सायरा बानो से शादी रचाई थी। 

मधुबाला

अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर अभिनेत्री मधुबाला का नाम जेहन में आते ही उनकी फिल्मों के कई सीन्स याद आने लगते हैं। फिर चाहे वो फिल्म 'मुगल-ए-आजम' की अनारकली हो या 'हावड़ा ब्रिज' की डांसर हो। मधुबाला की एक्टिंग के जितने चर्चे थे, उससे कहीं ज्यादा उनकी खूबसूरती के लोग कायल थे। उनकी खूबसूरती का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि साल 1990 में एक फिल्मी पत्रिका 'मूवी' के ऑल टाइम ग्रेटेस्ट एक्ट्रेसेस की लोकप्रियता वाले सर्वे में मधुबाला को 58 प्रतिशत लोगों ने वोट दिया था। इन वोटों के साथ अभिनेत्री पहले स्थान पर रहीं थीं। मधुबाला ने 6 साल की उम्र में ही मायानगरी में कदम रख दिया था और इसकी वजह उनका परिवार था। पिता की नौकरी जाने के बाद उनका परिवार मुंबई आ गया। घर में 11 भाई-बहनों को पालने व आर्थिक संकट का बोझ मधुबाला के कंधों पर आ गया। मधु बेहद खूबसूरत थीं और इस वजह से उनके पिता ने उन्हें फिल्मों में काम करने के लिए भेज दिया। (इसे भी पढ़ें: पिता ऋषि कपूर को आखिरी बार न देख पाने के दर्द से उबरी नहीं हैं रिद्धिमा कपूर, सामने आई अनदेखी फोटोज)

मधुबाला ने 'मिस्टेर एंड मिसेज 55', 'महल', 'हावड़ा ब्रिज', 'तराना', 'अमर' और 'काला पानी' जैसी तमाम फिल्मों में काम किया। अपनी एक्टिंग के बल पर उन्होंने दर्शकों का दिल जीता। मधुबाला के जन्म से ही उनके दिल में छेद था। डॉक्टरों के अनुसार इस बीमारी में मधु को सख्त आराम करने की जरूरत थी, लेकिन परिवार की जिम्मेदारी के आगे अभिनेत्री अपने सभी दर्द को झेलते हुए काम करती रहीं। मधुबाला ने अपने फिल्मी करियर में कुल 66 फिल्मों में काम किया, लेकिन उनकी अदाकारी दर्शकों के दिलों में आज भी जिंदा है। मधुबाला ने 23 फरवरी 1969 को मधुबाला ने 36 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। लेकिन वो आज भी हमारी यादों में अमर हैं।

दिलीप-मधुबाला की बेमिसाल थी लव स्टोरी

दिलीप कुमार और मधुबाला की जिंदगी के बारे में जानने के बाद हम आपको दोनों की प्रेम कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं। दिलीप-मधुबाला की जोड़ी को उस वक्त सबसे रोमांटिक जोड़ी कहा जाता था। दोनों एक-दूसरे से बेशुमार प्यार करते थे। मधुबाला और दिलीप कुमार फिल्म 'तराना' के सेट पर पहली बार मिले थे, दोनों करीब 9 साल तक रिलेशनशिप में थे। दिलीप और मधुबाला का प्यार हर दिन परवान चढ़ रहा था। साल 1955 में फिल्म 'इंसानियत' के प्रीमियर के दौरान दोनों पहली बार सार्वजनिक तौर पर नजर आये थे। इस दौरान मधु लगातार दिलीप साहब का हाथ थामे हुए थीं और वो बेहद खुश नजर आ रही थीं। दिलीप कुमार भी कम प्यार में पागल नहीं थे। मधुबाला को सिर्फ देखने के लिए दिलीप कुमार मुंबई से पूना तक कार चलाकर आया करते थे और दूर खड़े होकर उन्हें निहारा करते थे।

इस वजह से हुआ प्रेम कहानी का अंत

दिलीप कुमार और मधुबाला के बीच रिश्ता खत्म होने के बाद उस वक्त की पत्रिकाओं में इसकी खूब चर्चा थी। रिश्ता टूटने की वजह ये बताई गई थी कि मधु के पिता नहीं चाहते थे कि दोनों की शादी हो। जबकि ये पूरा सच नहीं था। दिलीप कुमार ने अपनी आत्मकथा 'दिलीप कुमार- द सब्सटेंस एंड द शैडो' में अपने रिश्ते के खत्म होने की कुछ और ही वजह बताई है। उन्होंने लिखा, 'जैसा कि कहा जाता है, उसके उलट मधु और मेरी शादी के खिलाफ उनके पिता नहीं थे। उनकी अपनी प्रोडक्शन कंपनी थी और वे इस बात से काफी खुश थे कि एक घर में दो बड़े स्टार मौजूद होंगे। वे तो चाहते थे कि दिलीप कुमार और मधुबाला एक-दूसरे की बाहों में बाहें डालकर अपने करियर के अंत तक उनकी फिल्मों में डूएट गाते नजर आएं।' अभिनेता ने आगे लिखा, 'जब मुझे मधु से उनके पिता की योजनाओं के बारे में मालूम चला तो मेरी उनसे कई बार बातचीत हुई, जिसमें मैंने उन दोनों से कहा कि मेरे काम करने का अपना तरीका है, मैं अपने हिसाब से प्रोजेक्ट चुनता और करता हूं। उसमें मेरा अपना भी प्रोडक्शन हाउस हो तो भी ढिलाई नहीं कर सकता।' दिलीप की यही बात मधु के पिता को बुरी लग गई थी। (ये भी पढ़ें: रानी मुखर्जी ने बेटी आदिरा के बर्थडे पर होस्ट की प्राइवेट पार्टी, कई सेलेब किड्स किए गए स्पॉट)

दिलीप ने मधुबाला को दिया था शादी का प्रस्ताव

मधुबाला के पिता की नाराजगी के बाद भी दिलीप अभिनेत्री संग शादी रचाना चाहते थे। साल 1956 में फिल्म 'मलमल' की शूटिंग के दौरान दिलीप कुमार मधुबाला से मिले और कहा, 'काज़ी इंतज़ार कर रहे हैं चलो मेरे घर आज शादी कर लेते हैं।' ये सुनकर मधुबाला रोने लगी थीं। दिलीप कुमार ने कहा था, 'अगर तुम आज नहीं चली तो मैं तुम्हारे पास लौटकर नहीं आऊंगा, कभी नहीं आऊंगा।' ठीक वैसा ही हुआ, दिलीप मधुबाला के पास फिर कभी नहीं लौटे।

दिलीप कुमार ने कोर्ट में कही थी ये बात

साल 1957 में आई फिल्म 'नया दौर' में निर्देशक बीआर चोपड़ा ने अभिनेता दिलीप चोपड़ा और अभिनेत्री मधुबाला को साइन किया था। इस फिल्म की आउटडोर शूटिंग भोपाल और पूना में होनी थी, लेकिन ये बात मधुबाला के पिता को अच्छी नहीं लगी। उन्होंने मधु को भोपाल भेजने से सख्त मना कर दिया। उस वक्त तक फिल्म की आधी शूटिंग हो चुकी थी। मधु के पिता के इस रवैये से नाराज बीआर चोपड़ा ने ये मामला कोर्ट में घसीट दिया और फिल्म में मधुबाला की जगह अभिनेत्री वैजयंती माला को साइन कर लिया था। इस मामले की सुनवाई के दौरान दिलीप कुमार ने कोर्ट में कहा था, 'वे मधुबाला से मोहब्बत करते हैं और उनके मरने तक तक मोहब्बत करते रहेंगे।' इसके साथ ही दिलीप साहब ने अपना बयान बीआर चोपड़ा के पक्ष में दिया था।

मधुबाला ने किशोर कुमार से कर ली थी शादी

दिलीप कुमार से अलग होने के बाद मधुबाला एकदम अकेली हो गई थीं। उन्हें इस बात का यकीन हो गया था कि अब दिलीप कुमार उनके पास कभी नहीं लौटेंगे। इस अकेलेपन के दौरान ही मशहूर अभिनेता और सिंगर किशोर कुमार ने मधुबाला को शादी के लिए प्रपोज़ किया था। मधुबाला ने भी ना नहीं की और शादी के लिए फौरन हामी भर दी थी। 1960 में किशोर कुमार और मधुबाला ने शादी कर ली थी। शादी के बाद किशोर कुमार को मधुबाला की दिल की बीमारी के बारे में पता चला। वे मधुबाला के इलाज के लिए उन्हें लंदन लेकर गए, लेकिन वहां डॉक्टरों ने जवाब देते हुए कहा कि अब मधुबाला एक से दो साल तक ही जी पाएंगी। लंदन से लौटने के बाद किशोर कुमार मधुबाला को उनके पिता के घर छोड़ आए। इसकी वजह थी कि किशोर कुमार अपने काम में काफी व्यस्त रहते थे और ऐसे में वो मधु की अच्छे तरीके से देखभाल नहीं कर सकते थे। किशोर कुमार हर चार महीने में एक बार मधुबाला से मिलने जाया करते थे। आखिर में जब उनकी पत्नी को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी, उस वक्त किशोर कुमार के पास वक्त नहीं था। ऐसे में दिल की बीमारी बढ़ती गई और मधुबाला ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

दिलीप कुमार ने सायरा बानो से रचाई थी शादी

जहां एक तरफ मधुबाला ने दिलीप कुमार से अलग होने के बाद किशोर कुमार से शादी कर ली थी, तो वहीं दूसरी तरफ दिलीप कुमार ने अभिनेत्री सायरा बानो को अपना हमसफर चुन लिया था। साल 1966 में दिलीप कुमार ने सायरा बानो से शादी कर ली थी। सायरा दिलीप कुमार से उम्र में 22 साल छोटी हैं, लेकिन उम्र के इस फासले से दोनों के रिश्ते पर कोई फर्क नहीं पड़ा। दिलीप और सायरा की जोड़ी की लोग आज भी मिसाल देते हैं। सायरा बानो भी दिलीप कुमार को खूब प्यार करती हैं। हाल ही दिए इंटरव्यू में सायरा बानो ने कहा था, 'मैं दबाव में नहीं बल्कि प्यार में दिलीप साहब का ध्यान रखती हूं। मुझे तारीफ नहीं चाहिए। उन्हें छूना और उनके साथ रहना ही मेरे लिए सबसे अच्छी चीज है। मैं उन्हें बहुत प्यार करती हूं और वह मेरी सांस हैं।' इन दिनों दिलीप कुमार की तबियत काफी खराब है और ऐसे में उनकी पत्नी सायरा उनका खास ख्याल रख रही हैं।

फिलहाल, हम आशा करते हैं कि सायरा बानो और दिलीप कुमार की जोड़ी यूं ही सलामत बनी रहे और दिलीप कुमार जल्दी स्वस्थ हो जाएं। तो आपको दिलीप कुमार और मधुबाला की लव स्टोरी कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, हमारे लिए कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट: इंस्टाग्राम)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.