Jagjit Singh Chitra Singh Love Story: जब चित्रा से शादी के लिए जगजीत सिंह ने ली थी पहले पति से इजाजत

गजल गायकी में जगजीत सिंह (Jagjit Singh) और चित्रा सिंह (Chitra Singh) को किसी खास परिचय की जरुरत नहीं हैं। दोनों उम्दा गायकी के लिए फेमस हैं। लेकिन 1990 में हुए उस दर्दनाक हादसे के बाद दोनों की जिंदगी हमेशा-हमेशा के लिए बदल गई।

img

By Tripti Sharma Last Updated:

Jagjit Singh Chitra Singh Love Story: जब चित्रा से शादी के लिए जगजीत सिंह ने ली थी पहले पति से इजाजत

कहते हैं कि दुनिया में किसी भी माता-पिता के लिए उसके बच्चे से बड़ा कुछ नहीं होता। माता-पिता बनने के बाद हर पेरेंट्स की जिंदगी बच्चे के इर्द-गिर्द ही घूमती है। ऐसे में अगर किसी वजह से बच्चे की मृत्यु हो जाए, तो मानो माता-पिता की पूरी जिंदगी तबाह हो जाती है। कुछ ऐसी ही स्थिति थी गजल सम्राट जगजीत सिंह (Jagjit Singh) और उनकी पत्नी चित्रा सिंह (Chitra Singh) की। दोनों एक खुशहाल जीवन जी रहे थे, लेकिन जब उनके बेटे का निधन हुआ तो ऐसा लगा कि खुदा को उनकी खुशहाल जिंदगी मंजूर नहीं थी, जिसकी वजह से उन्होंने एक दर्दनाक हादसे में अपने एकलौते बेटे विवेक सिंह को हमेशा-हमेशा के लिए खो दिया था।

Jagjit Singh and Chitra Singh

जगजीत सिंह और चित्रा सिंह के बेटे विवेक की साल 1990 में एक कार एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। इस हादसे की वजह से दोनों ही सदमे में चले गए थे। यही नहीं, दोनों ने तो गाने भी गाने बंद कर दिए थे। हालांकि, जगजीत को इस सदमे से उभरने में 6 महीने से ज्यादा का वक्त लग गया। यह समय दोनों के लिए जिंदगी का सबसे बुरा दौर था, जिसकी कल्पना जगजीत सिंह और चित्रा सिंह ने कभी भी नहीं की थी। जगजीत सिंह की गिनती संगीत के ऐसे फनकारों में होती थी, जोकि दिल, मुहब्बत, जज्बात, जुदाई को बेहतरीन तरीके से सुरों के जरिए कहना जानते थे। (ये भी पढ़ें: बॉलीवुड और टीवी की इन मम्मियों ने सिजेरियन डिलीवरी से दिया बच्चों को जन्म, यहां चेक करें पूरी लिस्ट)

बेटे की मौत के वक्त गजल गा रहे थे जगजीत सिंह

Jagjit Singh

जिस शाम जगजीत और चित्रा को बेटे की मौत के बारे में पता चला, उस समय जगजीत गजल गाते-गाते रो रहे थे, लेकिन जैसे ही वो रुके तभी उन्हें बेटे की मौत की खबर मालूम चली। उस शाम वो एक महफ़िल में गजल गा रहे थे। यह महफ़िल अपने अंतिम चरण में थी कि तभी अभिनेत्री अंजू महेंद्रू ने जगजीत सिंह से ‘दर्द से मेरा दामन भर दे’ गजल सुनाने की फरमाइश की। हालांकि, उनका ये गजल गाने का मन बिल्कुल नहीं था। मगर मना करना भी उन्होंने मुनासिब नहीं समझा और वो गज़ल गाने लगे।

Jagjit Singh and Chitra Singh

जब उन्होंने गज़ल पूरी कर ली, तब उन्हें पता चला कि उनके बेटे विवेक की लंदन में कार हादसे के दौरान मौत हो गई। इस खबर ने उन्हें और चित्रा सिंह को खामोश कर दिया। दोनों ने गायकी को अलविदा कह दिया। मगर जगजीत ज्यादा समय तक बेटे को खोने के ग़म को अपने सीने में छिपा नहीं पाए और इसके बाद फिर से उन्होंने गायकी शुरू की। बेटे के जाने के 6 महीने बाद जगजीत सिंह ने ‘चिट्ठी ना कोई संदेश, जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए’ के जरिए वापसी की। (ये भी पढ़ें: किसी खूबसूरत महल से कम नहीं है अक्षय कुमार-ट्विंकल खन्ना का घर, यहां देखिए तस्वीरें)

अनोखी थी जगजीत सिंह और चित्रा सिंह की प्रेम कहानी          

Jagjit Singh and Chitra Singh

मालूम हो, जगजीत सिंह ने जितनी सुर्खियां अपनी गायकी को लेकर बटोरीं, उससे कई ज्यादा चर्चे उनकी निजी जिंदगी के होते थे। इस बात की जानकारी बेहद कम लोगों को है कि जगजीत चित्रा सिंह के दूसरे पति थे। जगजीत से पहले उनकी शादी ब्रिटानिया बिस्किट में एक बड़े अधिकारी देबू प्रसाद दत्‍ता से हुई थी। चित्रा और देबू को साथ में एक बेटी भी है, जिसका नाम मोना है। वैसे जगजीत और चित्रा की प्रेम कहानी काफी अनोखी रही। ऐसा इसलिए क्योंकि दोनों की मुलाकात गायकी की वजह से ही हुई थी।

Jagjit Singh and Chitra Singh

जगजीत अक्सर ही चित्रा के पड़ोसी के घर आया करते थे। चित्रा मुंबई में जिस जगह रहती थीं, उसी के सामने एक गुजराती परिवार रहता था। यहां जगजीत रिकॉर्डिंग करने के लिए आया करते थे। एक बार चित्रा ने रिकॉर्डिंग के समय उनकी आवाज सुनी थी, जिसके बाद उन्होंने अपने पड़ोसी से पूछा था कि ये आवाज किसकी है। उनके द्वारा इतना पूछने पर ही वह गुजरती परिवार जगजीत की जमकर बढ़ाई करने लगा। हालांकि, तब उन्हें जगजीत की आवाज पसंद नहीं आई और वो उनकी आवाज को गंदा बताकर वहां से चली गईं। (ये भी पढ़ें: प्यार और इकरार के बाद भी अधूरी थी राज कपूर-नरगिस की प्रेम कहानी, जानिए क्यों)

Jagjit Singh and Chitra Singh

इसके बाद दोनों की मुलाकात महिंदरजीत सिंह ने करवाई थी। दरअसल तब चित्रा के पति देबू काम के सिलसिले से गुलिस्तान में रहते थे। ऐसे में चित्रा के घर पर शोकेस रिकॉर्डिंग थी। तब महिंदरजीत ने स्टूडियो बुक किया था। उनके साथ जगजीत भी चित्रा के घर पहुंचे थे। जब जगजीत की रिकॉर्डिंग का समय आया, तब महिंदरजीत ने कहा कि पहले जगजीत अकेले गाएंगे, इसके बाद उन्हें चित्रा के साथ डुएट गाना है। महिंदरजीत की ये बात सुनकर चित्रा साफ मना कर देती हैं। वह कहती हैं कि वो उनके साथ नहीं गाएंगी क्योंकि उनकी आवाज भारी है। चित्रा की ये बात सुनकर जगजीत ने भी उनके साथ गाना गाने को मना कर दिया था।

जगजीत ने चित्रा से शादी करने के लिए इनसे ली थी इजाजत

Jagjit Singh

चित्रा के घर पर हुई रिकॉर्डिंग के बाद जगजीत और उनकी मुलाकात एक स्टूडियो में हुई थी। बात साल 1967 की है। दोनों एक ही स्टूडियो में रिकॉर्डिंग करने पहुंचे थे। इस दौरान दोनों की मुलाकात हुई। चित्रा ने रिकॉर्डिंग के बाद जगजीत सिंह से कहा कि उनका ड्राइवर उन्हें घर तक छोड़ देगा। यह सुनकर जगजीत चित्रा के साथ उनकी कार में बैठ गए। इस दौरान चित्रा ने उन्हें अपने घर चाय पर बुलाया। ऐसे में जगजीत उनके घर पहुंचे। जब चित्रा किचन में चाय बना रही थीं, तब उन्होंने जगजीत को एक गजल गाते हुए सुन लिया। गजल सुनते ही चित्रा जगजीत से पूछती हैं कि ये किसकी आवाज है, जगजीत कहते हैं 'मेरी है'। चित्रा पहली बार जगजीत से इंप्रेस हो जाती हैं।

Jagjit Singh

इसके बाद जगजीत और चित्रा अक्‍सर मिलने लगे और एक-दूसरे को पसंद करने लगे। जहां एक ओर चित्रा की जगजीत से नजदीकियां बढ़ती गईं, वही दूसरी ओर उनकी पति देबू से दूरियां बढ़ती गई। देबू भी किसी और को पसंद करने लगे थे। इसके बाद चित्रा और देबू का आपसी रजामंदी से तलाक हो गया। साल 1970 में देबू ने दूसरी शादी कर ली। जगजीत देबू के पास गए और उनसे कहा, मैं चित्रा से शादी करना चाहता हूं। जब उन्‍होंने इजाजत दी तब दोनों ने शादी कर ली। इस शादी का खर्च महज 30 रुपए आया। तबला प्‍लेयर हरीश ने पुजारी का इंतजाम किया था और गजल गायक भूपिंदर सिंह दो माला और मिठाई लाए थे। (ये भी पढ़ें: 5 साल का रिलेशनशिप फिर सगाई, आखिर क्यों हुआ था अभिषेक-करिश्मा का ब्रेकअप)

Jagjit Singh and Chitra Singh

8 फरवरी 1941 को राजस्थान के श्रीगंगानगर में जन्मे जगजीत सिंह और चित्रा सिंह की लव स्टोरी वाकई किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है। भले ही 10 अक्टूबर 2011 को मस्तिष्क आघात की वजह से जगजीत सिंह का निधन हो गया हो, लेकिन उनकी यादें आज भी ताजा हैं। ऐसे में जब भी किसी के जुबान पर गजल का नाम आता है, तो वो शख्स सबसे पहले जगजीत सिंह को याद करता है। आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी हमें कमेंट करके बताना न भूलें, हमारे लिए कोई सलाह है तो जरूर दें।

latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2020, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.