भारतीय क्रिश्चियन शादी की रस्में: प्री से पोस्ट वेडिंग तक इतने इंट्रेस्टिंग होते हैं रीति-रिवाज

आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको इंडियन क्रिश्चियन शादी से पहले और बाद के रीति-रिवाज और रस्मों के बारे में बताएंगे।

img

By Rinki Tiwari Last Updated:

भारतीय क्रिश्चियन शादी की रस्में: प्री से पोस्ट वेडिंग तक इतने इंट्रेस्टिंग होते हैं रीति-रिवाज

भारतीय शादियों में रीति-रिवाज और रस्में एक आकर्षण का केंद्र होते हैं। भारतीय शादियों में चाहे बात हिंदू रीति-रिवाज की हो, बंगाली रीति-रिवाज की हो या फिर क्रिश्चियन वेडिंग रीति-रिवाज की हो, सभी रस्मों को बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको इंडियन क्रिश्चियन शादी से पहले और बाद के रीति-रिवाज और रस्मों के बारे में बताएंगे।

क्रिश्चियन शादी भारतीय समाज में हमेशा से ही अपने क्लास के लिए जानी जाती है। दुल्हन आउटफिट से लेकर फ्लोरल डेकोरेशन तक सब कुछ एक ड्रीम वेडिंग की तरह लगता है। भारत में क्रिश्चियन शादी हिंदू और क्रिश्चियन रीति-रिवाजों का हैप्पी मिक्स अप होता है। दुल्हन अपनी शादी में परियों की तरह सफेद गाउन पहनती है, जिसे उसका प्रिंस चार्मिंग सपनों के राजकुमार की तरह उसे पिक करता है। आइए जानते हैं इंडियन क्रिश्चियन वेडिंग से जुड़े रीति-रिवाज और रस्मों के बारे में। (ये भी पढ़ें- अंकिता भार्गव से भारती सिंह तक इन 11 टीवी एक्ट्रेसेस ने रोका सेरेमनी में सिंपल लुक से बिखेरे जलवे)

प्री-वेडिंग रीति-रिवाज

1. इंगेजमेंट सेरेमनी

क्रिश्चियन वेडिंग में सबसे पहली रस्म इंगेजमेंट सेरेमनी होती है। इंगेजमेंट सेरेमनी को दुल्हन की तरफ से होस्ट किया जाता है, जहां परिवार के अलावा करीबी रिश्तेदार और दोस्त शामिल होते हैं। इस सेरेमनी में कपल एक-दूसरे को रिंग पहनाते हैं।

2. बैचलर और बैचलरेट पार्टियां

शादी से पहले दूल्हा और दुल्हन अपने दोस्तों व भाई-बहनों के साथ बैचलर या बैचलरेट पार्टियां करते हैं। लड़कियों की तरफ से रखी गई पार्टी को बैचलरेट पार्टी कहा जाता है, जिसे दुल्हन की बहन और गर्लफ्रेंड्स मिलकर होस्ट करती हैं। वहीं, दूल्हे की तरफ से रखी गई पार्टी को बैचलर पार्टी कहते हैं, जिसे दूल्हे के भाई और दोस्त मिलकर होस्ट करते हैं। ये पार्टी इसलिए होस्ट की जाती है, ताकि दूल्हा और दुल्हन अपनी जिंदगी की शुरुआत खुशहाली के साथ करें।

रोस सेरेमनी

इस सेरेमनी को ‘हल्दात’ भी कहा जाता है। उत्तर भारतीय क्रिश्चियन की मान्यता के मुताबिक, इस सेरेमनी में दूल्हा और दुल्हन पर हल्दी व चंदन का लेप लगाया जाता है। उत्तर भारत में इस सेरेमनी को ‘हल्दात’ के अलावा ‘रोस’ भी कहा जाता है। वहीं, पश्चिमी और दक्षिण भारत में रोस सेरेमनी के मौके पर हल्दी व चंदन के अलावा नारियल का पेस्ट लगाया जाता है।

क्रिश्चियन वेडिंग रस्म

1. दुल्हन का शानदार स्वागत

क्रिश्चियन वेडिंग के दिन दुल्हन दूल्हे के द्वारा भेजी गई कार में बैठकर वेडिंग वेन्यू में पहुंचती है। इस खास मौके पर दूल्हा अपनी खूबसूरत दुल्हन को फूलों के बुके के साथ पिक करता है और उसे चर्च के अंदर ले जाता है। वैसे, तो दूसरे धर्मों की शादियों में वेदी पर दूल्हे का स्वागत किया जाता है, लेकिन क्रिश्चियन वेडिंग में दुल्हन का स्वागत होता है। बाद में दुल्हन का पिता अपनी बेटी को नीचे ले जाता है और उसे दूल्हे को सौंपता है। ये एक तरह पिता का आशीर्वाद होता है।

2. क्रिश्चियन वेडिंग में 'भीड़'

'भीड़' कैथोलिक क्रिश्चियन सेरेमनी में एक अनिवार्य सेरेमनीज में से एक होती है, जो फादर की प्रेयर के बाद शुरू होती है। इस रस्म के पीछे की वजह दूल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद देना होता है। इसके बाद फादर 'भीड़' के अलावा दूल्हा-दुल्हन को शादी की महत्ता के बारे में बताता है। फिर कपल रिंग्स एक्सचेंज करता है, जिसके बाद दोनों मैरिड रजिस्टर पर हस्ताक्षर करते हैं और अपनी शादी को भगवान और कानून के सामने लीगल बनाते हैं।

3. शादी की प्रतिज्ञा

एक-दूसरे से वादे के रूप में, दूल्हा और दुल्हन दोनों अपनी-अपनी शादी की प्रतिज्ञा लिखते हैं, जिसे वे शादी के समय पढ़ते हैं। प्रतिज्ञा एक-दूसरे के लिए प्यार और सम्मान का संदेश है।

4. क्रिश्चियन वेडिंग सेरेमनी

शादी की शपथ लेने के बाद में फादर वर और वधू दोनों से पूछता है कि 'क्या वे प्रेम और स्वास्थ्य में हमेशा एक-दूसरे का साथ देंगे?' तब कपल कहते हैं कि ‘हां मैं कर सकता हूं।’ तब फादर दोनों को पति-पत्नी कहता है और फिर आखिरी में कपल किस के साथ शादी की रस्में खत्म करता है और अपनी जिंदगी की एक नई शुरुआत करता है। (ये भी पढ़ें- इस दूल्हा-दुल्हन ने रचाई ईको फ्रेंडली शादी, जयमाला पर एक-दूसरे को पहनाई तुलसी के पत्तों की माला)

5. क्रिश्चियन वेडिंग में इंडियन टच

वैसे, तो क्रिश्चियन वेडिंग में कपल रिंग एक्सचेंज करता है, लेकिन अब ये ट्रेंड धीरे-धीरे चेंज हो रहा है। अब भारतीय क्रिश्चियन वेडिंग में रिंग की जगह दूल्हा अपनी दुल्हन के गले में मंगलसूत्र पहनाता है। ऐसा खासकर दक्षिण भारत में देखने को मिल रहा है। फिलहाल, ये नया ट्रेंड इन दिनों काफी प्रचलन में है।

6. शादी के अंत में बुके फेंकती है दुल्हन

वेडिंग सेरेमनी के बाद, दुल्हन अपनी शादी के गुलदस्ते को उछालती है और सभी अविवाहित लड़कियां इसे पकड़ने की कोशिश करती हैं। ऐसा कहा जाता है कि जो कोई भी इसे पकड़ता है, वो जल्द ही शादी करता है।

शादी के बाद की रस्में

1. दूल्हा-दुल्हन की रिसेप्शन पार्टी

शादी के बाद एक रिसेप्शन पार्टी का आयोजन किया जाता है, जहां दूल्हा और दुल्हन बॉलरूम डांस सीक्वेंस करते हैं। इस सेरेमनी में दूल्हा-दुल्हन केक भी काटते हैं और फिर फैमिली के साथ डिनर करते हैं।

2. वेडिंग रिसेप्शन में टोस्ट करना

क्रिश्चियन वेडिंग में आपको अच्छे खाने के साथ वाइन जरूर मिलेगी। रिसेप्शन सेरेमनी में दूल्हा-दुल्हन की हैप्पी मैरिड लाइफ के लिए एक सॉफ्ट सॉन्ग के साथ वाइन ग्लास को टोस्ट किया जाता है। इसके बाद दोनों हनीमून के लिए रवाना हो जाते हैं। (ये भी पढ़ें- सब्यसाची की इस दुल्हन और उसकी बहन ने शादी में पहना एक जैसा लहंगा, देखें खूबसूरत तस्वीरें)

वैसे, क्रिश्चियन वेडिंग के रीति-रिवाज और रस्में आपको कैसा लगा? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.