मुश्किलों भरी रही है सिंगर रागेश्वरी लूंबा की जिंदगी, 38 साल की उम्र में की शादी और 40 में बनी मां

सिंगर रागेश्वरी लूंबा (Raageshwari Loobma) की जिंदगी बहुत उतार-चढ़ाव भरी रही है। आज की इस स्टोरी में हम आपको रागेश्वरी की कहानी बताने जा रहे हैं..

img

By Shikha Yadav Last Updated:

मुश्किलों भरी रही है सिंगर रागेश्वरी लूंबा की जिंदगी, 38 साल की उम्र में की शादी और 40 में बनी मां

“जब अंबर जोड़े रिश्तों को तो, क्या फिक्र है तुम्हे जमाने। अगर चाहने वाले मिल जाएं, अरे हां ये दुनिया, ये दुनिया बड़ी रंगीली”। कौन जानता था कि सालों पहले 90 के दशक में आए इस मशहूर गाने की लाइन आगे जाकर खुद इसे गाने वाली सिंगर रागेश्वरी लूंबा (Raageshwari Loomba) पर फिट बैठेगी। रागेश्वरी एक समय में बॉलीवुड की चर्चित अभिनेत्री होने के साथ-साथ, फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर गायिका भी रह चुकी हैं। बचपन में रागेश्वरी अपने दोस्तों के बीच ‘राग्ज़’ नाम से मशहूर थीं। शुरूआत से ही रागेश्वरी को शोबिज और ग्लैमर इंडस्ट्री बहुत आकर्षित करती थी। रागेश्वरी ने बहुत ही छोटी उम्र से मॉडलिंग शुरू कर दी थी। सबसे पहले वह 1993 में रिलीज़ हुई फिल्म ‘आंखें’ में दिखाई दी थीं, जो कि बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई थी।

रातों-रात मशहूर हो गई थीं रागेश्वरी

रागेश्वरी ने अपने फिल्मी करियर में केवल 6 फिल्में ही की और वह शायद इसलिए, क्योंकि उन्हें एहसास हो गया था कि उन्हें एक्टिंग से ज्यादा सिंगिंग में दिलचस्पी है और वे सिंगिंग के क्षेत्र में ही नाम कमाना चाहती हैं। महज 22 साल की उम्र में ही उन्होंने अपने गाने लिखने और मीडिया आउटलेट्स में भेजने शुरू कर दिए थे, लेकिन दुर्भाग्यवश उनका एल्बम हर जगह रिजेक्ट हो जाया करता था। थक हारकर आखिरकार रागेश्वरी ने अपने पिता और भाई की मदद से अपना पहला एल्बम ‘दुल्हनिया’ रिलीज़ किया था, जिसमें उन्होंने खुद एक्टिंग भी की थी। रागेश्वरी की ‘नेक्स्ट-डोर गर्ल’ वाली इमेज उनकी खूबसूरत आवाज ने उन्हें रातों-रात स्टार बना दिया था। अपने एल्बम के लिए रागेश्वरी ने न सिर्फ ढेरों अवार्ड्स जीते थे, बल्कि वे 90 के दशक की सबसे पॉपुलर पॉप स्टार भी बन गई थीं।

उन दिनों रागेश्वरी अपनी सफलता को एन्जॉय कर रही थीं और अपने कॉन्सर्ट के लिए देश-विदेश में ट्रेवल कर रही थीं। वे अपने करियर के चरम पर पहुंच ही रही थीं कि, उन्हें एक दिन पैरालिसिस अटैक पड़ा, जिसे अंग्रेजी में ‘Bell’s Palsy’ के नाम से जाना जाता है। इस स्थिति में व्यक्ति के चेहरे की एक तरफ की मांसपेशियां अस्थाई रूप से कमजोर हो जाती हैं। पैरालिसिस अटैक पड़ने के बाद रागेश्वरी की दुनिया मानो उथल-पुथल हो गई थी। वे घर से अस्पताल और अस्पताल से घर में उलझ कर रह गई थीं।

रागेश्वरी ने इस बारे में बात करते हुए एक इंटरव्यू में कहा था, “एक दिन सुबह जब मैं ब्रश करने उठी तो अपने मुंह में पानी को रोक नहीं पाई। उस दिन एक स्कूल के लिए मेरा एक चैरिटी शो था और अवार्ड शो के लिए एक ओपनिंग एक्ट था। डॉक्टर को इस स्थिति के बारे में पता करने में दो दिनों का समय लग गया था, क्योंकि उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि, इतनी कम उम्र में भी किसी को यह हो सकता है। मेरे चेहरे और चेस्ट का आधा हिस्सा सुन्न हो गया था, जब मैंने बात करनी चाही तो मेरे होंठ मेरे कान तक पहुंच गए थे। मैं अपने आप को पहचान नहीं पा रही थी। मेरी आवाज नहीं निकल रही थी, मैं बात नहीं कर पा रही थी। मैंने थेरेपी लेनी शुरू की। थेरेपी से मेरी दिलचस्पी योगा में बढ़ी और मैं इस बारे में खुलकर बात इसलिए कर रही हूं, क्योंकि असली कहनियां ही हमें प्रेरित करती हैं। धीरे-धीरे मैं पूरी तरह ठीक हो गई और डॉक्टर यह देखकर हैरान थे। मैंने कभी स्टेरॉयड नहीं लिया। यह बस योगा और आत्म विश्वास का कमाल था। योगा से आपके शरीर के सभी अंगों तक खून का संचार होता है और पैरालिसिस नर्व से जुड़ी बीमारी है। यह बीमारी उन लोगों को होती हैं, जो अपना गुस्सा जाहिर नहीं कर पाते”।

रागेश्वरी लूंबा ने बड़ी ही बहादुरी से अपनी इस बीमारी का सामना किया था और कुछ ही सालों में वह पूरी तरह ठीक हो गई थीं। हालांकि, एक चीज जो बदल गई थी वह ये कि, अब उन्हें गाने में दिक्कत होने लगी थी। ऐसे में एक गंभीर बीमारी से उबरने के बाद रागेश्वरी ने फैसला किया कि, अब वे गाना नहीं गाएंगी और जरूरतमंद लोगों की मदद करके अपना आगे का जीवन व्यतीत करेंगी। अपने इसी सोच को आगे बढ़ाते हुए रागेश्वरी ‘Bell’s Palsy’ से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए आगे आईं और योगा की मदद से कइयों को ठीक भी किया। (ये भी पढ़ें: बरुन सोबती और पश्मीन मनचंदा की लव स्टोरीः काॅलेज से शुरू हुआ था प्यार, फिर ऐसे पहुंची शादी तक बात)    

ऐसे हुई थी प्यार की शुरुआत

बात करें लव लाइफ कि, तो 2012 में रागेश्वरी लूंबा के पेरेंट्स ने 36 साल की उम्र में उनके लिए परफेक्ट मैच ढूंढ लिया था। दरअसल, अपने लिए जीवनसाथी चुनने की जिम्मेदारी रागेश्वरी ने अपने माता-पिता पर छोड़ी थी। ऐसे में सुधांशु स्वरुप के रूप में रागेश्वरी के पेरेंट्स को अपना दामाद मिल गया था। सुधांशु पेशे से एक वकील थे, जो कि लंदन में रहते थे। रागेश्वरी ने जब सुधांशु से शादी की थी, तब उनकी उम्र 38 साल थी। हालांकि, शादी के लिए ‘हां’ करने के लिए रागेश्वरी ने कुछ महीनों का समय लिया था। रागेश्वरी ने कहा था कि वे कुछ समय के लिए सुधांशु से केवल ईमेल पर बात करना चाहती थीं, जिसके लिए सुधांशु भी मान गए थे। इसके बाद दोनों ईमेल पर बात करने लगे थे। उन दिनों को याद करते हुए रागेश्वरी ने कहा था, “हमारे माता-पिता के जरिये हमारी मुलाकात हुई थी। हम एक-दूसरे से ईमेल पर बात किया करते थे। धीरे-धीरे प्यार और विश्वास की बातें होने लगी थीं और आखिरकार हमें प्यार हो गया था। वो लंदन में रहते थे इसलिए हमें साथ में टाइम स्पेंड करने का बहुत ही कम मौका मिला था, लेकिन सारा दिन हम स्काइप पर रहते थे”। (ये भी पढ़ें: सुलक्षणा पंडित की दुखद प्रेम कहानीः संजीव कुमार के प्यार में बिगड़ गया था एक्ट्रेस का मानसिक संतुलन)   

शादी का दिन

27 जनवरी 2014 को बड़े ही धूमधाम से रागेश्वरी और सुधांशु की शादी हुई। रागेश्वरी की ग्रैंड वेडिंग में जूही चावला, पूजा बेदी समेत इंडस्ट्री के कई बड़े सितारे पहुंचे थे। अपनी शादी वाले दिन रागेश्वरी ने फैशन डिज़ाइनर नीता लुल्ला द्वारा डिज़ाइन गुलाबी रंग का लहंगा पहना था। लहंगे पर गोल्डन जरी का काम किया गया था, जिसमें रागेश्वरी की खूबसूरती देखते ही बन रही थी। शादी वाले दिन को याद करते हुए रागेश्वरी ने कहा था, “मुझे लगता है कि लोग हमें सिंगल देखकर थक गए थे। मैं 38 की थी और वो 40 के। मुझे अपना सच्चा जीवनसाथी मिल गया था और अब मैं जानती थी कि आखिर मुझे इतना लंबा इतंजार क्यों करना पड़ा था!”। शादी के बाद और लंदन जाने के बाद भी रागेश्वरी की योगा में दिलचस्पी कम नहीं हुई। रागेश्वरी का दमकता चेहरा देखकर कोई नहीं कह सकता कि, उनकी उम्र 40 पार हो गई है। वे आज भी 20 साल की लगती हैं। (ये भी पढ़ें: कपूर खानदान के बेटे और उनकी बीवियां, जिनके बारे में ये दिलचस्प बातें नहीं जानते होंगे आप)   

रागेश्वरी ने अपनी उम्र के बारे में बात करते हुए कहा था, “इंटरनेट की मानें तो मेरी उम्र 36 साल है, लेकिन अपनी उम्र पर मैं गर्व महसूस करती हूं। मैं महिलाओं से कहना चाहती हूं कि वे इस बात को समझें कि, अपने आप को यंग दिखाने के अलावा करने को और भी बहुत कुछ है। शारीरिक तौर पर मैं आज भी 16 साल की हूं और धार्मिक तौर पर हो सकता है मेरी उम्र 500 वर्ष हो। हम परेशानियों को अपने साथ ढोते हैं। अंदर को छोड़ हम बाहरी चीजों पर ध्यान देते हैं। इंसान जो काम करता है उससे नफरत करो, लेकिन इंसान से नफरत मत करो। प्यार बांटों, नफरत नहीं। प्यार हासिल करना हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए”। 40 साल की उम्र में साल 2016 में रागेश्वरी ने एक प्यारी सी बेटी को जन्म दिया था, जिसका नाम कपल ने समाया स्वरुप रखा है। 40 की उम्र में मां बनने को लेकर रागेश्वरी ने कहा था, “मैं 40 की उम्र में प्रेग्नेंट हुई वो भी नैचुरली। इसलिए मैं सभी महिलाओं से कहना चाहती हूं कि, विश्वास रखें और अपने शरीर से प्यार करें”।

हम उम्मीद करते हैं कि लूंबा परिवार इसी तरह आगे भी एक खुशहाल जीवन व्यतीत करे। तो आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी? कमेंट करके बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई राय हो तो हमें अवश्य दें।  

(Photo Credit: Instagram)
latest
latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.