राज कपूर के प्यार में दीवानी नरगिस ने इसलिए थामा था सुनील दत्त का हाथ, इस हादसे ने बदली जिंदगी

नरगिस (Nargis) पहले राज कपूर (Raj Kapoor) से प्यार किया करती थीं, लेकिन दोनों का प्यार परवान नहीं चढ़ पाया और जानिए किस तरह सुनील दत्त (Sunil Dutt) ने थामा उनका हाथ।

img

By Deepakshi Sharma Last Updated:

राज कपूर के प्यार में दीवानी नरगिस ने इसलिए थामा था सुनील दत्त का हाथ, इस हादसे ने बदली जिंदगी

किसी भी इंसान से प्यार होने के लिए सबसे जरूरी होता है उस इंसान के साथ खुद को जुड़ा हुआ महसूस करना। जब उसके साथ हो तो ऐसा लगे कि मानों दुनिया की सारी खुशियां एक साथ झोली में आ गई हों। शायद ऐसा ही कुछ सुनील दत्त के साथ भी हुआ, जब उन्हें प्यार के रुप में मिला एक्ट्रेस नरगिस का साथ। पहले नरगिस का दिल एक्टर राज कपूर के लिए धड़कता था, लेकिन वो पहले से ही शादीशुदा थे। राज कपूर ने अपनी पहली पत्नी को छोड़ने से इनकार कर दिया था। राज कपूर ने जब नरगिस के अरमानों को चकनाचूर कर दिया, तब उनका हाथ एक्टर सुनील दत्त ने थामा।

सुनील दत्त नरगिस के सबसे अच्छे दोस्त ही नहीं बल्कि एक अच्छे लाइफ पार्टनर भी बने। नरगिस जिस समय कैंसर की बीमारी से पीड़ित थी, उस समय भी सुनील ने उनका साथ नहीं छोड़ा। उनकी आखिरी सांस तक सुनील दत्त उन्हें प्यार करते रहे। दोनों को प्यार हुआ सुपरहिट फिल्म मदर इंडिया के सेट पर, जहां सुनील दत्त ने एक रियल हीरो की तरह नरगिस की जान बचाई।  वो नरगिस को बचाने के लिए आग में कूद गए थे। इस हादसे में वो पूरी तरह से जल गए। नरगिस ने इस दौरान सुनील दत्त का काफी ख्याल भी रखा। इस हादसे के बाद दोनों के बीच का रिश्ता और भी ज्यादा गहरा हो गया और उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। चलिए जानते है उनकी लव स्टोरी के खूबसूरत पलों को विस्तार में।

ये भी पढ़ें: जब बॉलीवुड की इन हसीनाओं ने थामा अपने से उम्र में छोटे साथी का हाथ, फिर हुआ कुछ ऐसा

पहली नजर में हो गया था प्यार

पहली नजर में ही किसी को देखकर प्यार हो जाने वाली बात कहीं न कहीं सुनील दत्त पर लागू होती हुई दिखाई दी। सुनील दत्त ने जब पहली बार नरगिस को देखा था, तभी से ही वो उनके प्यार में पड़ गए थे। कहते है कि दोनों की मुलाकात पहली बार उस समय हुई जिस वक्त सुनील दत्त सीलोन रेडियो में बतौर रेडियो जौकी के तौर पर काम किया करते थे। यहीं पर ही उन्हें नरगिस का इंटरव्यू लेने का काम सौंपा गया था। एक्टर सुनील दत्त का उस समय एक्टिंग से कोई लेना देना नहीं था। वहीं, नरगिस एक सफल एक्ट्रेस के तौर पर लोगों के दिलों पर राज कर रही थीं। जब सुनील दत्त ने नरगिस को पहली बार देखा, तो वो उनसे एक भी सवाल नहीं पूछ पाए। उनके इस बर्ताव के चलते उनकी नौकरी भी जाते-जाते बची थी।

इसके बाद दोनों की दूसरी बार मुलाकात हुई विमल रॉय की फिल्म ‘दो बीघा ज़मीन' के सेट पर। उस वक्त नरगिस विमल रॉय से मुलाकात करने के लिए सेट पर पहुंची थीं। वहीं, सुनील दत्त काम की तलाश में वहां आए थे। सुनील दत्त को वहां देखकर उन्हें पिछला वाक्या याद आ गया था और वो मुस्कुराती हुई आगे बढ़ गईं। इसके बाद दोनों की तीसरी मुलाकात फिल्म 'मदर इंडिया' के सेट पर हुई। 

जब राज कपूर से अलग हुई नरगिस

उस वक्त नरगिस और राज कपूर के लव अफेयर की चर्चा जोरों पर थी, लेकिन सुनील दत्त पर इस बात का कोई असर देखने को नहीं मिला। सुनील दत्त ने शांत रहने और सही वक्त आने पर अपने दिल की बात नरगिस को बताने का फैसला किया। कुछ वक्त के इतंजार के बाद ही सही, लेकिन प्यार ने सुनील दत्त की जिंदगी के दरवाजे खटखटा ही दिए। 

राज कपूर उस समय शादीशुदा थे और ये बात नरगिस अच्छे से जानती थी। नरगिस के इस बात का पता होने के बावजूद, उन्होंने आरके प्रोडक्शन की सारी फिल्में साइन की। वो राज कपूर की दूसरी पत्नी बनने के लिए भी तैयारी थी, लेकिन अफसोस किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था। राज कपूर और नगरिस  की प्रेम कहानी अधूरी ही रह गई। नरगिस पूरी तरह से टूट चुकी थी और डिप्रेशन में चली गई थी। उनकी अंधेरी जिंदगी में उजाला बनकर आए एक्टर सुनील दत्त।

ये भी पढ़ें: टीना मुनीम के लिंकअप की खबरों ने संजय दत्त को किया था बुरी तरह से परेशान, इंटरव्यू में किया खुलासा

जब नरगिस के लिए आग में कूद गए थे सुनील दत्त

महबूब खान की फिल्म मदर इंडिया में सुनील दत्त को रोल मिला था। उसी फिल्म में नरगिस भी काम कर रही थीं। फिल्म की शूटिंग के दौरान एक घटना घटी, जिसने हमेशा-हमेशा के लिए सुनील और नरगिस को एक दूसरे के करीब ला दिया था। एक सीन को शूट करने के लिए चारों और पुआल बिछाए हुए थे। सीन को फिल्माने के लिए उनमें आग लगाई गई। आग धीरे-धीरे तेज हो गई, जिसमें नरगिस फंस गईं। उस वक्त अपनी जान की परवाह किए बगैर सुनील दत्त, नरगिस को बचाने के लिए उस आग में कूद पड़े। वो इस हादसे में बूरी तरह से घायल हो गए थे। वो इतनी बुरी तरह से जल चुके थे कि बार-बार बेहोश हो रहे थे। उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया। जहां नरगिस ने दिन रात उनकी देखभाल की। इस घटना के बाद नरगिस और सुनील दत्त ने एक दूसरे के नाम खत लिखकर अपने प्यार का इजहार किया। 

इसके बाद एक और घटना ने सुनील दत्त के मन इस बात को पूरी तरह से कर कंफर्म दिया था कि वो नरगिस को अपना जीवन साथी बनाएंगे। सुनील दत्त की बहन जब बीमार पड़ गई थी तब नरगिस ने सुनील दत्त को बिना बताए उनका इलाज करवाया था। सुनील दत्त पहले से ही नरगिस को काफी चाहते थे, लेकिन इस वाक्या के बाद उन्होंने ये तय कर लिया था कि वो उन्हें ही अपना जीवन साथी बनाएंगे। इसके बाद सुनील दत्त ने नरगिस को प्रपोज करने में देरी नहीं की और नरगिस ने उसे स्वीकार लिया। नरगिस और सुनील दत्त ने 1958 में शादी की। बाद में इस कपल के तीन बच्चे हुए- संजय, प्रिया और नम्रता। शादी के कुछ वक्त बाद जब सुनील दत्त से पूछा गया कि वो कैसे नरगिस के प्यार में पड़े तो उन्होंने बताया कि मैंने उन्हें हमेशा एक ऐसे  इंसान और महिला के रूप में पाया जो मेरे परिवार की देखभाल करना जानती है। मैंने अपनी पत्नी में करुणा और समझदारी पाई।

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड के 12 फेमस लव ट्रायंगल जिनकी वजह से खराब हो गए कई रिश्ते

दुनिया को जब कहा अलविदा

कुछ सालों बाद नरगिस को कैंसर हो गया और उन्हें कई सालों तक कई ट्रिटमेंट से गुजरना पड़ा। इस दौरान सबसे अच्छी बात ये रही कि उनका प्यार यानी सुनील दत्त उनके साथ हर पल खड़े नजर आए। यहां तक की वो नरगिस का इलाज करने के लिए उन्हें अमेरिका तक लेकर गए थे, लेकिन अफसोस नरगिस अपनी जिंदगी की इस बड़ी जंग से हार गईं। एक्ट्रेस का 3 मई 1981 में निधन हो गया। उनके चले जाने के बाद सुनील दत्त ने बेहद ही जिम्मेदारी के साथ अपने पूरे परिवार को संभाला।

वैसे नरगिस और सुनील दत्त की कहानी किसी परियों की कहानी से कम नही है, जिसमें दर्द, प्यार, जज्बात और कई चुनौतियां आई। इन सब तमाम चीजों के बावजूद जो हमेशा-हमेशा के लिए सभी लोगों के दिल में रह गई वो है उनकी खूबसूरत लव स्टोरी। उनकी लव स्टोरी से हर किसी को कुछ न कुछ जरूर सीखना चाहिए।

फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम
latest
latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2020, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.