भाई राजीव के जाने से बेहद दुखी हैं रणधीर कपूर, भावुक होकर बोले- 'अब मैं अकेला रह गया'

रणधीर कपूर के छोटे भाई राजीव कपूर का 9 फरवरी को निधन हो गया था। हाल ही में, उन्होंने भाई राजीव के निधन वाले दिन के बारे में बताया है। आइए जानते हैं।

img

By Shivakant Shukla Last Updated:

भाई राजीव के जाने से बेहद दुखी हैं रणधीर कपूर, भावुक होकर बोले- 'अब मैं अकेला रह गया'

इस दुनिया को मृत्युलोक के नाम से जाना जाता है। यहां जो आया है, उसे एक ना एक दिन जाना ही होता है। चाहे वो राजा हो या फिर रंक। लेकिन दुख की बात ये है कि यहां से कब कौन जाएगा? इस बात की किसी को जानकारी नहीं होती है। ऐसे में जब कोई अपना कम उम्र में दुनिया को छोड़कर जाता है, तो बहुत दुख होता है। बॉलीवुड की सुपरहिट फैमिली, 'कपूर फैमिली' के साथ भी ऐसा ही हुआ है। पिछले एक साल के अंदर कपूर फैमिली के दो सितारों ने दुनिया को अलविदा कह दिया। इनमें अभिनेता ऋषि कपूर और उनके छोटे भाई राजीव कपूर शामिल हैं। इन दोनों के जाने से कपूर फैमिली के साथ ही पूरी फिल्म इंडस्ट्री और फैंस को तगड़ा झटका लगा। 9 फरवरी 2021 को बॉलीवुड अभिनेता रणधीर कपूर के सबसे छोटे भाई राजीव कपूर का मात्र 58 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। अभी हाल ही में, भाई के निधन को लेकर रणधीर कपूर ने बताचीत की है। आइए आपको बताते हैं इस बारे में। 

पहले तो ये जान लीजिए कि, राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) फिल्म इंडस्ट्री के एक जाने-माने अभिनेता थे। हालांकि, उन्होंने ज्यादा फिल्मों में काम तो नहीं किया था, लेकिन वे अपनी पहचान बतौर हीरो स्थापित करने में सफल रहे थे। राजीव कपूर फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ के लिए आज भी याद किये जाते हैं। उनकी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी, और इस फिल्म के बाद वे काफी चर्चा में आ गए थे। राजीव कपूर का करियर फिल्म इंडस्ट्री में काफी छोटा रहा। कपूर खानदान से आने के बावजूद वे अपने भाइयों की तरह कामयाब नहीं हो पाए थे। राजीव के अचानक निधन से कपूर खानदान सदमे में है। (ये भी पढ़ें: राजीव कपूर की लव लाइफ: शादी के दो साल बाद ही हो गया था तलाक, इन एक्ट्रेसेस से जुड़ा था नाम)

राजीव लॉकडाउन के समय अपने बड़े भाई रणधीर कपूर के साथ आरके रेजिडेंस में रहने के लिए शिफ्ट हुए थे। उसी दौरान (30 अप्रैल) दोनों ने ऋषि कपूर को खो दिया। और अब उनका सबसे छोटा भाई राजीव भी दुनिया छोड़कर चला गया। रणधीर कपूर अब खुद को बहुत अकेला महसूस कर रहे हैं।

'ईटाइम्स' के साथ हुई बातचीत में रणधीर कपूर ने भावुक होकर कहा कि, 'पता नहीं क्या हो रहा है। मैं राजीव और ऋषि से बहुत क्लोज था। मैंने अपने परिवार के चार सदस्य खो दिए- मेरी मां कृष्णा कपूर (अक्टूबर 2018), बड़ी बहन ऋतु (14 जनवरी 2020), ऋषि (30 अप्रैल 2020) और अब राजीव (9 फरवरी 2021)। ये चारों ही मेरे केंद्र थे, जिनसे मैं अक्सर बातें करता था।' (ये भी पढ़ें: आखिर क्यों पिता राज कपूर से राजीव कपूर को थी इतनी नाराजगी? अंतिम संस्कार में भी नहीं हुए थे शामिल)

बातचीत के दौरान रणधीर ने कहा कि, 'राजीव बहुत खुशमिजाज इंसान थे। यकीन नहीं होता कि वह अब नहीं हैं। उनका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक था, उनको कोई दिक्कत नहीं थी। वह इस दुख से कैसे उबर रहे हैं? इस पर रणधीर बोले, मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं है? मैं क्या कर सकता हूं? जो होना है होकर रहेगा। रणधीर ने बताया कि चौथा (शोक सभा) की रस्म के लिए उनकी वाइफ बबीता, बेटी करिश्मा और कपूर खानदान के कुछ लोगों ने मिलकर छोटी सी पूजा की।' बता दें कि, चौथा में 12 फरवरी 2021 को बॉलीवुड से जुड़ी कई हस्तियों ने कपूर फैमिली के घर पहुंचकर शोक प्रकट किया।

मंगलवार (निधन वाले दिन) को क्या हुआ था? इस पर रणधीर ने बताया कि, 'पैर से जुड़ी समस्या की वजह से मैं चल-फिर नहीं पाता। मेरे लिए 24 घंटे एक नर्स रहती है। नर्स राजीव को सुबह 7.30 बजे जगाने गई थी तो वह जवाब नहीं दे रहे थे। उसने देखा कि उनकी सांसे धीरे चल रही है और भी गिरती जा रही हैं। इसके बाद हम उन्हें लेकर हॉस्पिटल भागे, लेकिन बचाने की सारी कोशिशें नाकाम रहीं। अब मैं इस घर पर अकेला रह गया हूं।' (ये भी पढ़ें: पिता धर्मेंद्र के साथ बॉबी देओल की ये अनदेखी फोटो आई सामने, बचपन में बेहद क्यूट दिखते थे एक्टर)  

राजीव ने आर्किटेक्ट से की थी शादी, मगर...

राजीव कपूर को उनके घरवाले प्यार से ‘चिंपू’ बुलाया करते थे। एक दो फिल्मों में काम करने के बाद राजीव कपूर का करियर लगभग समाप्त हो गया था, जिसके बाद उन्होंने डायरेक्शन और प्रोडक्शन में भी हाथ आजमाया। साल 2001 में उन्होंने आर्किटेक्ट आरती सबरवाल (Aarti Sabarwal) से शादी की थी, लेकिन दुख की बात यह रही कि, उनकी शादी ज्यादा दिनों तक टिक नहीं पाई थी और शादी के केवल 2 साल बाद ही उनका तलाक हो गया था। अपने एक इंटरव्यू में राजीव कपूर ने बताया था कि, एक्टिंग करियर सफल नहीं होने पर उन्होंने क्या-क्या किया था। राजीव कपूर ने कहा था, “एक्टिंग की दुकान बंद होने पर मैंने डायरेक्शन और प्रोडक्शन में हाथ आजमाया। मैंने 1996 में डायरेक्शन ट्राई किया। बतौर डायरेक्टर मेरी पहली फिल्म ‘प्रेमग्रंथ’ थी। यह राज कपूर स्टाइल की फिल्म थी, जिसमें गरीब देसी हीरोइन, रेप एंड ऑल होता है। इस फिल्म में मेन लीड में चिंटू भैया (ऋषि कपूर) और माधुरी दीक्षित थे”।

फिलहाल, अपनी आंखों के सामने अपने दो छोटे भाईयों को जाते हुए देखना कितना दुखदाई है, ये तो रणधीर कपूर का दिल ही समझ सकता है। रणधीर कपूर इन दिनों सदमे में हैं। उनकी उम्र 73 साल है। ऐसे में हम उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं। वैसे, भले ही राजीव कपूर फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह नहीं बना पाए हों, लेकिन कुछ फिल्मों के जरिये लोगों के दिलों में अपनी छाप छोड़ने में जरूर कामयाब हुए। राजीव कपूर को अभिनेता के तौर पर आप कैसे देखते हैं? हमें कमेंट करके बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सुझाव हो तो हमें अवश्य दें।

(Photo Credit: Instagram)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.