रणधीर कपूर चाहते हैं दिवंगत भाई राजीव कपूर की संपत्ति पर अधिकार, कोर्ट ने दिया ये आदेश

बॉलीवुड एक्टर रणधीर कपूर अपने दिवंगत भाई रणधीर कपूर की संपत्ति का अधिकार चाहते हैं, जिसके लिए उन्होंने बॉम्बे हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की है। आइए आपको बताते हैं पूरा मामला।

img

By Vidushi Gupta Last Updated:

रणधीर कपूर चाहते हैं दिवंगत भाई राजीव कपूर की संपत्ति पर अधिकार, कोर्ट ने दिया ये आदेश

बॉलीवुड एक्टर राज कपूर के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) के निधन के बाद अब उनकी संपत्ति को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है। कोर्ट ने राजीव के भाई व एक्टर रणधीर कपूर (Randhir Kapoor) और उनकी बहन रीमा जैन (Reema Jain) से राजीव के तलाक से जुड़े आदेश की प्रति का पता लगाने को कहा है। जिसके बाद रणधीर और रीमा दोनों ने अदालत को विश्वास दिलाया है कि वे अपने दिवंगत भाई राजीव के तलाक से जुड़े आदेश की कॉपी का पता लगाने और उसे कोर्ट में पेश करने का पूरा प्रयास करेंगे।

पहले ये जान लीजिए कि, 9 फरवरी 2021 को बॉलीवुड अभिनेता रणधीर कपूर के सबसे छोटे भाई राजीव कपूर का मात्र 58 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। राजीव कपूर को उनके घरवाले प्यार से ‘चिंपू’ बुलाया करते थे। एक दो फिल्मों में काम करने के बाद राजीव कपूर का करियर लगभग समाप्त हो गया था, जिसके बाद उन्होंने डायरेक्शन और प्रोडक्शन में भी हाथ आजमाया। साल 2001 में उन्होंने आर्किटेक्ट आरती सबरवाल से शादी की थी, लेकिन दुख की बात यह रही कि, उनकी शादी ज्यादा दिनों तक टिक नहीं पाई थी और शादी के केवल 2 साल बाद ही उनका तलाक हो गया था। 

(ये भी पढ़ें: शादी के बंधन में बंधे सुगंधा मिश्रा और संकेत भोसले, सिंगर की दोस्त ने शेयर कीं इंगेजमेंट की फोटोज)

अब आपको बताते हैं पूरा मामला। दरअसल, रणधीर कपूर ने बॉम्बे हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की है। इस याचिका में रणधीर ने अपने भाई की संपत्ति के देखरेख का अधिकार(लेटर ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन) देने का निवेदन किया है, क्योंकि राजीव की कोई वसीयत नहीं है। 26 अप्रैल को फिल्म अभिनेता रणधीर की ओर से वसीयत नामे से संबंधित याचिका (टेस्टामेंट्री पीटिशन) पर न्यायमूर्ति गौतम पटेल के सामने सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद अदालत ने रणधीर और रीमा से एक स्वीकृति पत्र देने को कहा कि वो राजीव की तलाक के आदेश की प्रति को ढूंढने का हर तरीके से प्रयास करेंगे।

इससे पहले, रणधीर कपूर के वकील शरण जगतियानी ने अदालत को कहा था, “दोनों बहन और भाई उनकी संपत्ति के एकमात्र वारिस हैं। हमारे पास तलाक के आदेश की प्रति नहीं है। हमने इसे ढूंढने की कोशिश की लेकिन ढूंढ नहीं पाए। इसलिए हमें कोर्ट में तलाक की प्रति पेश करने से छूट दी जाए। हमे यह भी नहीं पता है कि तलाक का आदेश दिल्ली या मुंबई की कोर्ट ने जारी किया है।” इस पर कोर्ट ने उन्हें राजीव के तलाक से जुड़े आदेश की प्रति तलाश करने को कहा और मामले की सुनवाई स्थगित कर दी। न्यायमूर्ति ने कहा कि वे कोर्ट में तलाक के आदेश की प्रति पेश न करने की छूट देने को तैयार हैं पर पहले स्वीकृति पत्र (अंडर टेकिंग) दिया जाए।

(ये भी पढ़ें: बेटी आरा से दूर नहीं रह पा रहीं काम्या पंजाबी, कहा- 'दर्द होता है, लेकिन ये वक्त भी बीत जाएगा')

'ईटाइम्स' के साथ हुई बातचीत में रणधीर कपूर ने भावुक होकर कहा था कि, 'पता नहीं क्या हो रहा है। मैं राजीव और ऋषि से बहुत क्लोज था। मैंने अपने परिवार के चार सदस्य खो दिए- मेरी मां कृष्णा कपूर (अक्टूबर 2018), बड़ी बहन ऋतु (14 जनवरी 2020), ऋषि (30 अप्रैल 2020) और अब राजीव (9 फरवरी 2021)। ये चारों ही मेरे केंद्र थे, जिनसे मैं अक्सर बातें करता था।'

बातचीत के दौरान रणधीर ने कहा था कि, 'राजीव बहुत खुशमिजाज इंसान थे। यकीन नहीं होता कि वह अब नहीं हैं। उनका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक था, उनको कोई दिक्कत नहीं थी। वह इस दुख से कैसे उबर रहे हैं? इस पर रणधीर बोले, 'मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं है? मैं क्या कर सकता हूं? जो होना है होकर रहेगा।'

(ये भी पढ़ें: शख्स ने नेहा धूपिया से ब्रेस्टफीडिंग वीडियो शेयर करने को कहा, एक्ट्रेस के फैन ने दिया मुंहतोड़ जवाब)

फिलहाल, रणधीर कपूर को राजीव की संपत्ति का हक़ मिलता है या नहीं, ये अब कोर्ट के अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा। तो आपकी इस बारे में क्या राय है? हमें कमेंट में बताएं, साथ ही कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.