रितेश देशमुख की मकर सक्रांति पर बच्चों के साथ पतंग उड़ाने की है प्लानिंग, शेयर कीं बचपन से जुड़ी यादें

बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख ने मकर सक्रांति के त्योहार को सेलिब्रेट करने के प्लान्स को अपने लेटेस्ट इंटरव्यू में बताया है। आइए आपको इस बारे में बताते हैं...

img

By Vidushi Gupta Last Updated:

रितेश देशमुख की मकर सक्रांति पर बच्चों के साथ पतंग उड़ाने की है प्लानिंग, शेयर कीं बचपन से जुड़ी यादें

आज यानी 14 जनवरी 2021 को पूरा देश मकर सक्रांति का त्यौहार मना रहा है और बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख (Riteish Deshmukh) ने भी अपने बेटे रियान और राहिल के साथ इस फेस्टिवल को सेलिब्रेट करने के लिए पूरी प्लानिंग कर रखी है।

इस फेस्टिवल के बारे में ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ से बात करते हुए रितेश ने कहा, “हालांकि, पतंग ज्यादातर गुजरात में उड़ाई जाती हैं, लेकिन मुंबई में भी इसे काफी अच्छे तरीके से अपनाया गया है। मेरे पिता (महाराष्ट्र के पूर्व चीफ मिनिस्टर विलासराव देशमुख) लातूर से हैं, जहां वो इस दिन पतंग उड़ाने पर ज्यादा जोर नहीं देते हैं, तो मैंने ये चीज मुंबई में अपने दोस्तों से सीखी है।” (ये भी पढ़ें: वरुण धवन और नताशा दलाल की शादी की खबर पर एक्टर के चाचा अनिल धवन ने दी प्रतिक्रिया, बताई सच्चाई)

अपने बचपन की यादों को साझा करते हुए रितेश ने कहा, “हम समुद्र के किनारे एक सरकारी बंगले में रहा करते थे। जैसे ही मैं स्कूल से घर आता था, मैं सीधे इस उम्मीद में छत पर भागता था कि वहां मांझे से कटी हुई पतंगे मिलेंगी। मेरे दोस्त भी घर पर पतंग उड़ाने आते थे, लेकिन उड़ाने से ज्यादा हम उन पतंगों का पीछा करने में बिजी होते थे जो हमारे घर की तरफ कट कर आ रही होती थीं।”

अब रितेश पतंग उड़ाने की कला अपने बच्चों को भी सिखाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “मेरे बच्चे एक ऐसी उम्र पर हैं, जहां वो इस एक्टिविटी को समझेंगे। पिछले साल, हमने ये ट्राई किया था, लेकिन इस साल मैं उनको पतंग बनाना और उडाना सिखाऊंगा।” उन्होंने आगे कहा, “2020 बच्चों के लिए काफी मुश्किल भरा रहा है। वो एक ऐसी एज पर हैं, जहां सोशल स्किल्स उन्हें सीखनी पड़ेंगी और पतंग उड़ाना उनके लिए इस दिशा में अच्छी एक्सरसाइज साबित होगा।” (ये भी पढ़ें: अनुपम खेर को पढ़ाने के लिए उनकी मां ने बेच दी थी अपनी ज्वैलरी, 37 रुपए लेकर मुंबई आए थे एक्टर)

इसके आगे रितेश ने कहा, “मैं उत्सव के भोजन की प्रतीक्षा कर रहा हूं और तिलगुल पर भोजन करूंगा, जो बेहद हेल्दी हैं। हमारे बच्चे भी उन्हें बहुत पसंद करते हैं।” अपने इंटरव्यू के आखिरी में मराठी में फैंस को बधाई देते हुए कहा, “तिलगुल घ्या, गॉड गॉड बोला।”

ऐसे शुरू हुई थी रितेश और जेनेलिया की लव स्टोरी

रितेश देशमुख व जेनेलिया डिसूजा की प्रेम कहानी की शुरुआत फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ से हुई थी, और साल 2012 में दोनों ने फिल्म ‘तेरे नाल लव हो गया’ के बाद शादी कर ली थी। इन दोनों ने एक-साथ अपने फिल्मी करियर की शरुआत की थी और इसी दौरान दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया था। जब रितेश, जेनेलिया को अपना दिल दे बैठे थे उस वक्त वो केवल 16 साल की थीं। (ये भी पढ़ें: बेटी इनाया के लिए सोहा अली खान और कुणाल खेमू ने किया आर्ट बनाने का कम्पटीशन, जानें कौन जीता?)

दोनों की मुलाकात पहली बार हैदराबाद एयरपोर्ट पर हुई थी, तब जेनेलिया ने रितेश को नजरअंदाज किया था। उन्हें लगा था कि रितेश अपने पिता की तरह ही एक राजनेता हैं। लेकिन फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ की शूटिंग के दौरान दोनों पहले दोस्त बने और इसके बाद में ये दोस्ती प्यार में बदल गई। रितेश पेशे से एक आर्किटेक्ट हैं और यही वजह है कि शूटिंग के वक्त वो जेनेलिया से आर्किटेक्चर के बारे में बात किया करते थे। वहीं, जेनेलिया अपने एग्जाम और कॉलेज के बारे में रितेश को बताया करती थीं। इसके बाद दोनों ने साल 2012 में एक-दूसरे से शादी कर ली थी। मौजूदा समय में रितेश और जेनेलिया अपने दो बेटों के माता-पिता हैं।

फिलहाल, ऐसा लग रहा है कि रितेश देशमुख की इस फेस्टिवल को लेकर काफी उत्साहित हैं। तो आपको ये स्टोरी कैसी लगी? हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं, साथ ही कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट- riteishd)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.