सरोज खान को बेटी सुकैना ने किया याद, कहा- 'हर उतार-चढ़ाव में मां चट्टान की तरह हमेशा साथ थीं'

हाल ही में, दिवंगत फेमस कोरियोग्राफर सरोज खान की दूसरी डेथ एनिवर्सरी पर उनकी बेटी सुकैना ने अपनी मां को याद करते हुए काफी बातें की हैं। आइए आपको इस बारे में बताते हैं।

img

By Shivakant Shukla Last Updated:

सरोज खान को बेटी सुकैना ने किया याद, कहा- 'हर उतार-चढ़ाव में मां चट्टान की तरह हमेशा साथ थीं'

बॉलीवुड की प्रतिष्ठित कोरियोग्राफर सरोज खान (Saroj Khan) को उनकी पर्सनैलिटी, स्पेशल डांस मूव्स और यादगार सॉन्ग सींस के लिए याद किया जाता है। उन्होंने 3 जुलाई 2020 को दुनिया को अलविदा कह दिया था, लेकिन उनके लाखों प्रशंसक आज भी उन्हें उनके शानदार काम के लिए याद करते हैं। हाल ही में, फेमस कोरियोग्राफर की दूसरी डेथ एनिवर्सरी पर उनकी बेटी ने उन्हें याद किया है।

saroj khan

'ईटाइम्स' के साथ एक विशेष बातचीत में सरोज खान की सबसे छोटी बेटी सुकैना ने कोरियोग्राफर के बारे में बताया और साझा किया, “मेरी मां एक बहुत ही भावुक पैरेंट थीं। वह अपने सभी बच्चों को समान रूप से प्यार करती थीं। हमें अपना शिष्टाचार ठीक रखना था, वह हमेशा टेबल मैनर्स चाहती थीं, एक साथ बैठना, सीधा बैठना, अपने चम्मच और कांटे का इस्तेमाल करना। वह ऐसी थीं। वह हमसे बेहद प्यार करती थीं। मैं सबसे छोटी बेटी हूं और उन्होंने मुझे कभी भी फिल्म इंडस्ट्री में जाने के लिए मजबूर नहीं किया। उन्होंने वास्तव में अपने तीन बच्चों में से किसी को भी मजबूर नहीं किया, लेकिन जाहिर है कि, मेरे भाई को इस पेशे से उतना ही प्यार था, जितना उन्हें था। इसलिए वह एक कोरियोग्राफर बन गए और मेरी बहन एक ड्रेस डिजाइनर हैं और मैं अकेली रह गई।"

saroj khan family

(ये भी पढ़ें: 13 की उम्र में सरोज खान ने की थी 41 साल के डांसर से शादी, कुछ ऐसी थी लाइफ)  

सरोज खान का आखिरी गाना 'तबाह हो गए' था, जिसमें उनकी पसंदीदा अभिनेत्री माधुरी दीक्षित थीं। सरोज खान के कम फिल्में करने के बारे में बोलते हुए सुकैना ने कहा, “उन्हें काम करने के प्रपोजल मिल रहे थे, लेकिन वह अपनी उम्र और स्वास्थ्य के कारण आराम करना चाहती थीं, लेकिन फिर भी वह एक-दो काम कर रही थीं। उनसे डांस सीखने वाली कई अभिनेत्रियां थीं, जिनमें अलीज़ेह, अनन्या, सारा, समेत कई एक्ट्रेसेस के नाम शामिल हैं, इसलिए वह खुद को बहुत लकी मानती थीं और बॉलीवुड से भी उतनी ही जुड़ी हुई थीं। वह बहुत जल्द टीवी में चली गईं और मुझे लगता है कि, बॉलीवुड ने इस बात को स्वीकार करना शुरू कर दिया कि, उन्हें बॉलीवुड से ज्यादा टीवी पसंद है, जबकि बॉलीवुड उनके खून में था। वह बॉलीवुड को बिल्कुल भी नहीं छोड़ सकती थीं।"

saroj khan

कभी भी इंडस्ट्री से अलग-थलग महसूस नहीं होने के बारे में सुकैना ने कहा कि, बॉलीवुड की बहुत सारी हस्तियां उनकी मां को 'मां' बुलाती थीं। उन्होंने कहा कि, “हर कोई संपर्क में था। माधुरी मैम, सुभाष जी, जैकी जी, गोविंदा सर, सब उन्हें फोन करते रहे और मुझे भी फोन किया। वे मुझसे उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछते थे। जब उन्होंने खबर सुनी, तो वे सभी हैरान रह गए जैसे हम थे। हमें उम्मीद नहीं थी कि, ऐसा कुछ हमारे सामने आएगा।" इंडस्ट्री से परे सरोज खान अक्सर सोशल मीडिया के जरिए फैंस से जुड़ी रहती थीं। सुकैना ने खुलासा किया कि, “उन्होंने सोशल मीडिया का भरपूर आनंद लिया। वह सबके पोस्ट देखती रहती थीं और कहती थीं, "आज मैं भी कुछ पोस्ट करना चाहूंगी।" इसलिए वह एक वीडियो उठाती थीं और कहती थीं कि, इसे मेरे लिए अपलोड कर दो। आखिरी पोस्ट, जो मुझे याद है, वह सुशांत के लिए थी। उन्होंने मुझसे कहा था, कृपया एक पोस्ट लिखो, मैं उस लड़के के बारे में बात करना चाहती हूं।"

saroj khan

अपनी मां से सीखी गई एक बात को साझा करते हुए सुकैना ने कहा कि, सरोज खान के लिए परिवार बहुत मायने रखता है। उन्होंने कहा कि, “मैंने एक बात सीखी कि, परिवार जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज है। मुझे लगता है कि, यही सबसे अच्छी कीमत है, जो उन्होंने हम सभी को दिया और चली गईं, परिवार के बिना कुछ भी संभव नहीं है। वह तीन साल की थीं, जब उन्होंने काम करना शुरू किया, क्योंकि वह गरीब थीं और 10 साल की उम्र में उन्होंने अपने पिता को खो दिया था। वह चार बहनों, एक भाई और एक विधवा मां के लिए एक आदमी की तरह घर की देखभाल करने लगीं। उन्होंने उनकी शादी करवाई और फिर खुद सेटल हुईं। फिर आए बच्चे, हम तीनों के लिए उन्होंने सुनिश्चित किया कि, हम अपने जीवन में खुश रहें। हमारे जीवन में जो भी उतार-चढ़ाव आए, उसमें वह हमारे साथ चट्टान की तरह थीं। उन्होंने कभी ना नहीं कहा, मैंने कभी अपनी मां को ना कहते नहीं सुना। उन्होंने हमेशा कहा, “हां, यह किया जा सकता है। हां, ऐसा होगा।"

saroj khan

(ये भी पढ़ें: कोरियोग्राफर्स की प्रेम कहानी, किसी का 28 साल बड़े तो किसी का 8 साल छोटे पर आया दिल)  

सरोज खान के परिवार ने वर्तमान में स्वास्थ्य संकट को देखते हुए प्रार्थना सभा को स्थगित करने का फैसला किया। उन्होंने कहा, “मैं प्रार्थना सभा करना चाहती हूं, लेकिन जब कोरोनावायरस थोड़ा कम हो और हर कोई आ सके। कल मेरे पास करीब 800 फोन आए, जो लोग उनकी कब्र पर गए थे, उन्होंने वापस आकर मुझे बताया। इसलिए, मैं एक प्रार्थना सभा करना चाहती हूं, जहां हर कोई आकर अपनी संवेदना व्यक्त कर सके, उनकी सुरक्षित यात्रा के लिए प्रार्थना कर सके। मैं नहीं चाहती कि, लोग इसके लिए शोक मनाएं, मैं चाहती हूं कि, लोग उनके जीवन का जश्न मनाएं।”

Saroj Khan

फिलहाल, भले ही सरोज खान अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके द्वारा सिखाए गए डांस स्टेप्स को फैंस हमेशा याद रखेंगे। तो उनकी बेटी के इस इंटरव्यू के बारे में आपकी क्या राय है? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

BollywoodShaadis.com © 2022, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.