जूही चावला की लव लाइफ: अपनी शादी को 6 साल तक छुपाकर रखा था एक्ट्रेस ने, जानें क्यों

90 के दशक में एक्ट्रेस जूही चावला (Juhi Chawla) ने बॉलीवुड में एंट्री की थी। अपने करियर के पीक में ही जूही ने शादी तो कर ली, लेकिन इसे 6 साल तक छुपाए रखा था। इस राज के पीछे की वजह आइए हम आपको बताएं।

img

By Ritu Singh Last Updated:

जूही चावला की लव लाइफ: अपनी शादी को 6 साल तक छुपाकर रखा था एक्ट्रेस ने, जानें क्यों

खूबसूरती के साथ जूही चावला (Juhi Chawla) में जो चुलबुलापन नजर आता है, वही उनकी खासियत है। उनकी मुस्कराहट आज भी लोगों के दिलों में समाई हुई है। 1984 में ‘मिस इंडिया पेजेंट’ बनने के बाद जूही ने बॉलीवुड की ओर रुख किया और 90 के दशक की टॉप एक्ट्रेसेस में शामिल हो गईं। भले ही उनकी पहली फिल्म 'सल्तनत' फ्लॉप थी, लेकिन उनकी एक्टिंग और खूबसूरती के चर्चे हर जगह होने लगे। जल्द ही उन्हें दूसरी फिल्म करने का मौका मिल गया और ये फिल्म उनकी लाइफ में ‘माइल स्टोन’ साबित हुई। इनकी दूसरी फिल्म थी 'कयामत से कयामत तक'। इसके बाद तो उनकी हिट फिल्मों का सिलसिला ही शुरू हो गया, लेकिन अपने करियर के पीक पर पहुंच कर उन्होंने गुपचुप तरीके से शादी कर ली।

साल 1995 में उन्होंने जब इंडस्ट्रियलिस्ट जय मेहता (Jay Mehta) के साथ शादी की तब वह बहुत सी दुश्वारियों के बीच घिरी हुईं थीं। 6 साल तक बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी कोई नहीं जान सका था कि जूही ने शादी कर ली है। हममें से बहुत लोग ऐसा मानते हैं कि बॉलीवुड एक्ट्रेसेस की लाइफ बहुत स्मूथ और ग्लैमरस होती है और वे परियों की तरह अपनी जिंदगी जीती हैं, लेकिन पर्दे पर हमेशा खिलखिलाती नजर आती जूही चावला की जिंदगी इसके एकदम उलट रही थी। तो चलिए आपको जूही चावला के इस डार्क साइड से रूबरू कराएं।

इंडस्ट्रियलिस्ट जय मेहता पहले से थे शादीशुदा

जूही चावल के पति जय मेहता एक बड़े इंडस्ट्रियलिस्ट हैं। वे ‘द मेहता ग्रुप’ के मालिक हैं। उनकी मुंबई स्थित कंपनी की कई देशों में सहयोगी कंपनियां हैं। उनकी कंपनी सीमेंट और चीनी जैसे प्रोडक्ट बनाती हैं। जूही के साथ जय की ये दूसरी शादी है। इससे पहले जय की शादी यश बिड़ला की बहन ‘सुजाता बिड़ला’ के साथ हुई थी, लेकिन 1990 में बैंगलोर में हुए एयरप्लेन क्रैश में उनकी मौत हो गई थी।

जय और जूही का मिलना था एक संयोग

शायद नियति ने ही जय और जूही का मिलना तय किया था,क्योंकि दोनों का मिलना एक दूसरे के लिए बड़ा सहारा बना था। डायरेक्टर राकेश रोशन की एक फिल्म में जूही काम कर रही थीं, तभी राकेश रोशन ने अपने घर पर ही जूही को जय से मिलवाया था। जय, राकेश रोशन के अभिन्न मित्र थे। इसके बाद फिल्म के दौरान दोनों कई बार एक-दूसरे से मिलते रहे, लेकिन वे महज एक दोस्त की तरह थे और उनके बीच उस समय इससे ज्यादा कुछ न था। जय अपनी पत्नी के प्रति समर्पित थे और जूही भी अपने करियर में तल्लीन थीं।

कठिन हालात में जूही ने जय को संभाला था

प्लेन क्रैश में जय ने अपनी पत्नी को खो दिया और इस संकट की घड़ी में जूही ने जय को बहुत संभाला। धीरे-धीरे दोनों एक-दूसरे को समझने लगे और ये साधारण सी दोस्ती को एक अलग एंगल मिलने लगा। दोनों दिन-ब-दिन नज़दीक आते गए। जूही ने जय को कठिन समय से निकलने में इतनी मदद की थी कि वह उनके साथ और मौजूदगी को बहुत अहमियत देने लगे थे। वहीं, जूही भी जय के व्यक्तित्व से बहुत प्रभावित थीं। (इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड के 10 ऐसे सितारे, जिन्होंने किसी फेसम स्टार से नहीं की शादी, जानें इनके बारे में)

जूही रिश्ते को नाम देने से हिचक रही थीं

जूही, जय की एक महत्वपूर्ण दोस्त बन चुकी थीं। वह हर कठिन और दुख की स्थिति में उनके साथ खड़ी रहती थीं। दोनों के बीच प्यार के बीज पनप चुके थे, लेकिन जूही अपने रिश्ते को एक नाम देने से हिचकिचा रही थीं। वह शुरू में तो शादी करने को राजी नहीं थीं, लेकिन जल्दी ही उन्होंने अपना मन बदल लिया और शादी करने को राजी हो गईं।

1995 में दोनों ने गुपचुप कर ली शादी

जूही और जय समझ चुके थे कि, वही एक-दूसरे के सच्चे साथी हैं और इसलिए बिना देरी किए दोनों ने बहुत जल्द गुपचुप तरीके से साल 1995 में शादी कर ली। इस शादी में दोनों के परिवारों के चंद लोग और बहुत करीबी दोस्त शामिल हुए थे। (इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड की ऐसी अभिनेत्रियां जो 18 साल से पहले ही हो गई थीं प्रेग्नेंट, जानें इनके बारे में)

मुश्किलों का दौर हुआ शुरू, तो नजदीकियां भी बढ़ीं

जूही और जय अपनी शादी के बाद कुछ पल साथ भी रह नहीं पाए थे कि, साल 1998 में जूही की मां की एक कार दुर्घटना में मौत हो गई। जूही को इससे बहुत गहरा धक्का लगा। कुछ समय बाद उनके भाई बॉबी की भी लंबी बीमारी के बाद मौत हो गई। ऐसे  कठिन वक्त में जय ने जूही को पूरा सहारा दिया। वह उनके साथ हमेशा खड़े रहे। ऐसे हालात में नई शादी की खुशियां और रोमांस सब कुछ खत्म हो गया था,  लेकिन जय के सपोर्ट से सबकुछ ठीक होने लगा। (इसे भी पढ़ें: बहुत खूबसूरत थीं जैकी श्रॉफ की मां, देखें ये अनदेखी फोटो और जानें एक्टर से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें)

दुश्वारियों ने दोनों को और करीब ला दिया

दुश्वारियां इतनी बढ़ चुकी थीं कि जूही खुद को संभाल नहीं पा रही थीं, लेकिन इसके बावजूद दोनों अलग नहीं बल्कि, और करीब आ चुके थे। जय मेहता जूही के लिए सच्चे हमदर्द साबित हुए। उन्होंने जूही को दुख से बाहर निकाला और भावनात्मक सहयोग दिया। अपने बिजी शेड्यूल से समय निकाल कर वह हमेशा जूही के साथ खड़े रहते थे।

जूही ने जब किया शादी का खुलासा

शादी इतनी गुपचुप तरीके से हुई थी की बॉलीवुड इंडस्ट्री को भी तभी इसका पता लगा जब जूही ने खुद ये बात सबके सामने रखी। जूही ने साल 2001 में दुनिया के सामने अपनी शादी की बात तब उजागर की जब वह अपने पहले बच्चे की मां बनने वाली थीं। अब इस कपल के दो बच्चे हैं, बेटी जान्हवी, जिसका जन्म 2001 में हुआ और बेटा अर्जुन, जिसका जन्म 2003 में हुआ। बच्चों के जन्म के बाद जूही ने एक लंबा ब्रेक लिया था, लेकिन एक बार फिर सिल्वर स्क्रीन पर जूही नजर आने लगी हैं। उन्होंने फिल्म ‘गुलाबी गैंग’ और ‘मेरा भाई निखिल’ जैसी फिल्मों से कमबैक किया है।

ये सच है कि स्क्रीन पर हमेशा मुस्कराते नजर आते ये सितारे असल जिंदगी में अपनी मुस्कान के पीछे बहुत से दर्द भी छुपाए होते हैं। जूही चावला ने भी अपनी लाइफ में कुछ ऐसा ही किया है। भले ही उनकी शादी का सफर बहुत रोमांटिक न रहा हो, लेकिन शादी के बाद वह अपने हिस्से के सारे सुख जरूर पा रही हैं। एक बहुत ही प्यार करने वाले पति और दो बच्चों के साथ जूही अब बहुत ही खुश हैं। वहीं, इस कपल ने प्रेम को एक नई परिभाषा जरूर दी है, जिससे हमें सीख जरूर लेनी चाहिए। तो आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी? जरूर बताएं और कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.