विनोद खन्ना की लव लाइफ: करियर के पीक पर बन गए थे संन्यासी, की थी दो शादियां

बॉलीवुड के सुपरस्टार रहे विनोद खन्ना ने अपने किरदार से ना जाने कितने लोगों को अपना दीवाना बनाया है। लेकिन इनकी निजी जिंदगी के बारे ज्यादा लोगों को नहीं पता। तो आज हम आपको इससे रूबरू करवाने जा रहे हैं

img

By Shivakant Shukla Last Updated:

विनोद खन्ना की लव लाइफ: करियर के पीक पर बन गए थे संन्यासी, की थी दो शादियां

भले ही बॉलीवुड के सुपरस्टार विनोद खन्ना (Vinod Khanna) हमारे बीच नही हैं, लेकिन उनका अभिनय आज भी लोगों के दिलों में जिंदा है। अपने शानदार व्यक्तित्व और बेहतर अभिनय के दम पर उन्होंने लगभग चार दशकों तक फिल्म इंडस्ट्री पर राज किया। आपने उन्हें फिल्मों में 'एक खलनायक', 'एक नायक', 'एक आम आदमी', 'एक पुलिस निरीक्षक' और ना जाने कितने किरदारों में देखा होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि वह अपने निजी जीवन में कैसे थे? नहीं! तो अगर आप इस सुपरस्टार की लव लाइफ के बारे में जानना चाहते हैं तो ये स्टोरी पढ़ते रहिए।

Vinod Khanna

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। भारत-पाकिस्तान बंटवारे के समय उनका परिवार पेशावर से मुंबई आ गया था। खन्ना की विज्ञान में गहरी रुचि थी, लेकिन उनके पिता चाहते थे कि वह उनके बिजनेस में हाथ बंटाएं, क्योंकि वह एक कोराबारी थे। इस बीच वह अपने कॉलेज के थिएटर ग्रुप में शामिल हो गए, जहां उनकी मुलाकात उनकी होने वाली पत्नी गीतांजलि तालेयारखान से हुई। उस समय वह मॉडल बनना चाहती थीं। विनोद को पहली नजर में उनसे प्यार हो गया, और जल्द ही दोनों एक-दूसरे को डेट करने लगे। यह वही समय था जब विनोद खन्ना को निर्माता, निर्देशक सुनील दत्त ने देखा था। इसी समय सुनील दत्त ने उन्हें 'मन का मीत' नामक फिल्म ऑफर की थी। विनोद ने इस फिल्म के साथ 1968 में अपनी पहली शुरुआत की और धीरे-धीरे बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेताओं में शुमार हो गए। इनके पहली बार पर्दे पर आने के बाद ही इन्हें 15 फिल्मों का कान्ट्रैक्ट मिल गया था। (ये भी पढ़ें: सुपरस्टार रजनीकांत की लव स्टोरी: इंटरव्यू लेने आई लता रंगाचारी पर आ गया था दिल, कुछ ऐसी है कहानी)

Vinod Khanna with first wife

जब खन्ना अपने करियर के पीक पर थे, तो उन्होंने साल 1971 में कॉलेज की दोस्त गीतांजलि से शादी कर ली। 1975 आते-आते उनके दो बेटे, राहुल खन्ना और अक्षय खन्ना भी हो गए। इनका परिवार बड़े ही व्यवस्थित तरीके से चल रहा था। विनोद खन्ना रविवार को काम नहीं करते थे, क्योंकि वह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ समय बिताना चाहते थे। वह अपनी पत्नी और बच्चों के प्रति वफादार रहे।

Vinod Khanna with son Akshaye Khanna

इसी बीच विनोद खन्ना के मन में संन्यास का खयाल आया। इसकी तलाश में खन्ना का ओशो के आश्रम की ओर रुख करने पर खन्ना परिवार का जीवन सबसे खराब दौर में पहुंच गया। इस आध्यात्मिक परिवर्तन से परिवार के लिए बनाया हुआ सबकुछ बेकार हो गया। (इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड के ऐसे 12 सेलेब्स जिन्होंने 40 की उम्र के बाद भी नहीं की है शादी, जानें कौन हैं ये)

Vinod Khanna's spiritual change

साल 2002 में विनोद ने बताया था कि कैसे धन और प्रसिद्धि होने के बावजूद, वह हमेशा असहज महसूस करते थे। वह कुछ खोज रहे थे जो उन्हें ओशो के आश्रम में ले गया। जल्द ही विनोद खन्ना ने ओशो पंथ से इतना आध्यात्मिक जुड़ाव कर लिया कि उन्होंने अपने करियर को छोड़ दिया और आश्रम के काम को देखने के लिए यूएसए चले गये। 

Vinod Khanna's spiritual change

इसके बाद पत्नी गीतांजलि से भी उनकी दूरी बढ़ने लगी, हालांकि वह फोन पर अपने परिवार से कभी-कभी बात करते थे। बच्चे अपने पिता को बहुत अधिक चाहते थे। गीतांजलि ने खन्ना को यह समझने की कोशिश की कि लड़कों के लिए दुनिया का सामना करना मुश्किल है जो हमेशा उनके पिता के ठिकाने के बारे में उनसे सवाल करते हैं। यही वजह थी कि साल 1985 में गीतांजलि और विनोद दोनों अलग हो गए। 

1987 में जब वे दोबारा इंडिया लौटे तब तक उनके पास न रुतबा बचा था और न ही पैसा। यूं कहें कि उनके पास कुछ भी नहीं था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उस दौर में विनोद खन्ना को तमाम आर्थिक मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। जब उन्होंने फिल्म जगत के अपने दोस्तों का रुख किया, तो उनके दोस्तों ने उनका खुले हाथों से स्वागत किया, और फिर चीजें धीरे-धीरे ही सही लेकिन पटरी पर आ गई। कुछ दिनों बाद उनकी मुलाकात मशहूर बिजनेसमैन सरयू दफ्तरी की बेटी कविता दफ्तरी से हुई, और फिर आगे चलकर दोनों एक-दूसरे को डेट करने लगे। (इसे भी पढ़ें: नीना गुप्ता: एक ऐसी एक्ट्रेस जो शादी के पहले बनी मां, 49 साल में हुआ प्यार और रचाई शादी)

Vinod Khanna and wife Kavita

मई 1990 में विनोद खन्ना ने अपनी उम्र से 16 साल छोटी कविता से शादी का ऐलान कर सभी को चौंका दिया। इस कपल के घर जल्द ही बेटे साक्षी और बेटी श्रद्धा का जन्म हो गया। 1990 के बाद विनोद खन्ना का जीवन पटरी पर तो लौट आया, लेकिन फिर वो रुतबा हासिल नहीं हो पाया, जिसे अचानक छोड़कर वे सन्यासी बन गए थे। हालांकि, विनोद अपने परिवार के साथ खुशी-खुशी जीवन का लुत्फ उठाने लगे थे।

Vinod Khanna and family

27 अप्रैल 2017 को वो मनहूस दिन आया जब विनोद खन्ना का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। सुपरस्टार विनोद खन्ना हमेशा-हमेशा के लिए दुनिया से रूख्सत हो गए। फिलहाल, आज भी उनकी यादें लोगों के दिलों में जिंदा हैं। तो आपको विनोद खन्ना की लव लाइफ कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट: इंस्टाग्राम)
latest
latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2020, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.