जब शादीशुदा बोनी कपूर को श्रीदेवी से हुआ था प्यार, एक्स वाइफ के सामने ऐसे किया था इजहार

फिल्म निर्माता बोनी कपूर ने अपनी पहली पत्नी मोना कपूर के सामने ही एक्ट्रेस श्रीदेवी से अपने प्यार का इजहार किया था। तो चलिए जानते हैं कि बोनी कपूर ने क्या कहा था?

img

By Shivakant Shukla Last Updated:

जब शादीशुदा बोनी कपूर को श्रीदेवी से हुआ था प्यार, एक्स वाइफ के सामने ऐसे किया था इजहार

बॉलीवुड की जब मशहूर प्रेम कहानियों की बात होती है तो उसमें बोनी कपूर (Boney kapoor) और श्रीदेवी (Sridevi) की लव स्टोरी का जिक्र जरुर होता है। उस समय यह बात सभी को खटकी थी जब इंडस्ट्री की सबसे सक्सेसफुल और खूबसूरत अभिनेत्री श्रीदेवी साधारण से दिखने वाले फिल्म प्रोड्यूसर बोनी कपूर के प्यार में पड़ गई थीं। हालांकि, ये बात और है कि दोनों की प्रेम कहानी इतनी आसान नहीं रही थी। दरअसल, जब बोनी कपूर श्रीदेवी के प्यार में पड़े थे, तब वे पहले से शादीशुदा थे। बोनी कपूर के शादीशुदा होने की वजह से दोनों को इस शादी के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।  

बोनी कपूर कुछ ही दिनों की जान-पहचान के बाद श्रीदेवी के प्यार में गिरफ्तार हो गए थे। श्रीदेवी के फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के मशहूर गाने ‘काटे नहीं कटते’ की शूटिंग के दौरान बोनी को श्रीदेवी से पहली नजर का प्यार हो गया था। कहा जाता है कि इस गाने की शूटिंग के दौरान ही दोनों एक-दूसरे के करीब आये थे। जब बोनी कपूर को श्रीदेवी से प्यार हुआ था, तब वे मोना शौरी कपूर के पति हुआ करते थे। इतना ही नहीं, उस समय वे दो बच्चों अर्जुन कपूर और अंशुला कपूर के पिता भी थे।  

फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ की शूटिंग के दौरान बोनी कपूर ने श्रीदेवी को इम्प्रेस करने का हर संभव प्रयास किया था। साथ ही वे इस बात का भी खास ध्यान रखते थे कि सेट पर उनकी हीरोइन को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। उस वक्त में ‘वैनिटी वैन’ और ‘पर्सनल असिस्टेंट’ नाम की कोई चीज नहीं होती थी, ऐसे में बोनी कपूर ने श्रीदेवी के लिए स्पेशल वैन का इंतजाम करवाया था। बोनी कपूर और श्रीदेवी साल 1996 में शादी के पवित्र बंधन में बंधे थे। (ये भी पढ़ें: अर्चना पूरन सिंह की लव लाइफ: मर्दों से नफरत करने वाली एक्ट्रेस ऐसे हुई पति परमीत की दीवानी)     

एक रिपोर्ट की मानें तो, श्रीदेवी को बोनी कपूर का उनके परिवार से मिलना बिल्कुल पसंद नहीं था और एक बार तो अपनी पत्नी मोना कपूर और बच्चों से मिलने पर श्रीदेवी उन पर चिल्ला तक पड़ी थीं। कुछ लोग तो बोनी कपूर का घर टूटने का जिम्मेवार भी श्रीदेवी को मानते हैं। यहां तक कि बोनी-मोना के दोनों बच्चे अर्जुन और अंशुला भी सालों तक यही मानते आये कि श्रीदेवी की वजह से ही उनके पिता ने उनकी मां को छोड़ा था। श्रीदेवी के निधन से पहले अर्जुन और अंशुला अपनी सौतेली मां श्रीदेवी और उनकी दोनों बेटियों जान्हवी कपूर और खुशी कपूर से बात तक नहीं करते थे।  

बोनी कपूर ने ‘India Today Woman Summit 2013’ में बताया था कि कैसे उन्होंने अपनी पहली पत्नी मोना से कह दिया था कि वे श्रीदेवी से प्यार करते हैं। इस पर बात करते हुए बोनी ने कहा था, “असल में, मैंने अपनी एक्स वाइफ मोना के सामने स्वीकार किया था कि मैं श्रीदेवी से प्यार करता हूं। मैं तब अपने आप को रोक नहीं पाया था”। 'फिल्मफेयर' के साथ एक थ्रोबैक इंटरव्यू में बोनी कपूर ने बताया था कि वे किस हद तक श्रीदेवी से प्यार करने लगे थे। उन्होंने कहा था कि, “श्री अपने आप में रहने वाली महिला हैं। वे काम पर आती थीं और अपना काम करके चली जाती थीं। लेकिन मैं जिस बात से इम्प्रेस हुआ वह थी उनकी मासूमियत। उनमें कुछ भी बनावटी नहीं था। मेरे दिल को वो घेरती चली गईं। जब भी मैं उनसे मिलता उनके प्रति मेरा प्यार और गहरा हो जाता। सुपरस्टार होने के बाद भी वे बहुत सिंपल और जमीन से जुड़ी हुई थीं”।  

पूरी दुनिया शॉक रह गई थी जब 24 फरवरी 2018 की सुबह खबर आई कि श्रीदेवी का निधन हो गया है। श्रीदेवी दुबई के एक होटल में मृत पाई गई थीं। वे अपने परिवार संग दुबई एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने गई थीं। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि श्रीदेवी कपूर फैमिली की बैकबोन थीं और जिनका परिवार के हर सदस्य के साथ मधुर संबंध था। श्रीदेवी अनिल कपूर और उनकी पत्नी सुनीता आहूजा के भी बहुत करीब थीं। श्रीदेवी के निधन पर परिवार के हर सदस्य ने उन्हें याद करते हुए सोशल मीडिया पर इमोशनल पोस्ट शेयर किया था।  

बोनी कपूर ने श्रीदेवी के नाम एक भावुक कर देने वाला पोस्ट शेयर करते हुए लिखा था, “पूरी दुनिया के लिए वह चांदनी थी...एक सुपरस्टार...उनकी श्रीदेवी...लेकिन मेरे लिए वह मेरा प्यार थीं, मेरी दोस्त थीं और मेरी बेटियों के लिए उनकी मां थीं...मेरी पार्टनर। मेरी बेटियों के लिए वह सब कुछ थीं...उनकी जिंदगी थीं। उनके जाने के गम को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। वह हमारी जिंदगी थीं, हमारी ताकत और हम सबके मुस्कुराने के पीछे की वजह। हम सब उनसे बेइंतहा प्यार करते हैं। रेस्ट इन पीस माय लव। हमारी जिंदगी अब पहले की तरह कभी नहीं रहेगी”। (ये भी पढ़ें: बेटे तैमूर को कुकिंग क्लासेज देती दिखीं मां करीना कपूर, सामने आईं एडोरेबल फोटोज)     

श्रीदेवी को त्योहारों का भी बहुत शौक था। वे किसी भी त्योहार को बड़े ही धूमधाम से सेलिब्रेट करती थीं। साल 2018 में दिवाली के मौके पर बोनी कपूर और श्रीदेवी की एक फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी। इस तस्वीर में बोनी कपूर श्रीदेवी को पनीर की डिश खिला रहे थे। यह फोटो साल 2008 में ली गई थी और दस साल बाद इसी पोज को बोनी कपूर ने अपनी बड़ी बेटी जान्हवी के साथ रीक्रिएट किया था, जिसमें बोनी कपूर जान्हवी को ठीक उसी तरह से खाना खिला रहे थे। इस तस्वीर को खुशी कपूर ने कैप्चर किया था, जिसे देख फैंस की आंखें अपनी फेवरेट एक्ट्रेस को याद कर एक बार फिर नम हो गई थीं।  

हालांकि, ये बात भी सही है कि श्रीदेवी के जाने के बाद नए रिश्तों की शुरुआत हुई। सालों तक अपनी सौतेली मां और बहनों से नफरत करने वाले अर्जुन कपूर एक जिम्मेदार भाई की तरह जान्हवी और खुशी का ध्यान रखते हुए देखे गए। अब तो जान्हवी, खुशी, अर्जुन और अंशुला एक स्ट्रॉन्ग बॉन्ड शेयर करते हैं। सोशल मीडिया पर ये कभी एक-दूसरे की टांग खींचते हुए दिख जाते हैं तो कभी फैंस द्वारा सोशल मीडिया पर ट्रोल होने पर एक-दूसरे का सपोर्ट भी करते हैं। जब भी सोशल मीडिया पर जान्हवी कपूर को ट्रोल किया जाता है, अर्जुन कपूर ट्रोलर्स को करारा जवाब देकर उनका मुंह बंद कर देते हैं। (ये भी पढ़ें: 'स्टुअर्ट बिन्नी' और 'मयंती लैंगर' की लव स्टोरी: पेरेंट्स बन कर हैं खुश, 'क्रिकेट' ने बनाई जोड़ी)   

भाई बहनों के बीच बॉन्ड पर बात करते हुए पिता बोनी कपूर ने ‘स्पॉटबॉय’ के साथ एक इंटरव्यू में कहा था, “जैसा कि मैंने कहा! मैं अपने आप को बहुत सौभाग्यशाली मानता हूं कि मेरे पास जान्हवी, खुशी, अंशुला और अर्जुन जैसे बच्चे हैं। चारों भाई-बहन एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि वे अब एक हैं। इनका एक होना बाकी था और ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि ये तब हुआ जब कुछ अनहोनी घटी। इन चारों में मेरा खून है और इन्हें साथ होना ही था। इसका क्रेडिट मैं अपने चारों बच्चों को देना चाहता हूं, लेकिन सबसे ज्यादा अर्जुन को, क्योंकि वे सबसे बड़े हैं। अर्जुन मेरे साथ दुबई आये थे ताकि वे मेरे साथ रह सकें, जबकि अंशुला अपनी दोनों बहनों जान्हवी और खुशी के साथ मुंबई में थीं। भले ही इनकी मां अलग-अलग हों, लेकिन इस बात का असर उन पर क्यों पड़ना चाहिए? उन्हें अपने पिता की जरूरत है, और अब मैं उनके साथ रहने वाला हूं”।

श्रीदेवी और बोनी कपूर के रिश्ते में भले ही ढेरों उतार-चढ़ाव आये हों, लेकिन इसके बावजूद दोनों ने हर सिचुएशन में एक-दूसरे का साथ दिया था। शायद यही वजह है कि आज भी लोग इन्हें प्यार का प्रतीक मानते हैं। तो आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी? हमें कमेंट करके बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सुझाव हो तो हमें अवश्य दें।   

(फोटो क्रेडिटः इंस्टाग्राम)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.