`
07 September, 2021

इन दुल्हनों ने अपनी शादी में पहने फ्लोरल कलीरें


आइए आपको कुछ दुल्हनों से मिलवाते हैं, जिन्होंने अपनी शादी में फ्लोरल कलीरें पहने थे

By Rinki Tiwari

दुल्हन ने पहने थे रियल फूलों के कलीरें


साल 2017 में, जब नताशा अरोड़ा शादी के बंधन में बंधी थीं, तब उन्होंने अपने मिनिमल वेडिंग लुक के साथ फ्लोरल कलीरें पहने थे, जो उनके खूबसूरत पिंक कलर के लहंगे के साथ खूब जच रहे थे।

फोटो क्रे़डिट- Ivy Weddings


बता दें कि, कलीरें पहली बार भारत के पंजाब राज्य में 20वीं सदी में पहने गए थे। पंजाबी दुल्हनें अपनी शादी के दिन खूबसूरत कलीरों से अपने वेडिंग लुक को कंप्लीट करती हैं।


परंपरा के मुताबिक, शादी के दिन बहनें व दोस्त दुल्हन की कलाई में कलीरें बांधती हैं।


शादी के बाद दुल्हनें अपनी सहेलियों के ऊपर कलीरें गिराने की कोशिश करती हैं। माना जाता है कि, जिसके ऊपर भी ये गिरता है, शादी के बंधन में बंधने की अगली बारी उसकी होती है।


पिछले कुछ वर्षों में, पोम्पोम कलीरों से शेल कलीरों और पारंपरिक गोल्ड कलीरों तक, कलीरों से जुड़े कई ट्रेंड्स देखे गए हैं। हालांकि, भारत में दुल्हनों के द्वारा फूलों के कलीरें खूब पसंद किए जाते हैं।


दुल्हनें सिर्फ शादी में ही यूनिक फ्लोरल कलीरें नहीं पहनती हैं, बल्कि वो प्री-वेडिंग रस्मों में भी कलीरें पहनना पसंद करती हैं।


परंपरा के मुताबिक, कलीरें एक दुल्हन के लिए आशीर्वाद होते हैं, जिससे उनके घर में कभी भी खाने की कमी नहीं होती है।

फोटो क्रेडिट- रसम बप्पी


आज के समय में, कलीरें सिर्फ पंजाबी दुल्हनों के द्वारा ही नहीं पहने जाते हैं, बल्कि हर धर्म की दुल्हनें इन सुंदर कलीरों को अपनी शादी समारोहों में शामिल कर रही हैं।

फोटो क्रेडिट- रसम बप्पी

इन दुल्हनों ने अपनी शादी में पहनी साड़ी