संगीतकार श्रवण राठौर के अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाएंगे पत्नी और बेटा, दोस्त समीर अंजान ने बताई वजह

दिवंगत संगीतकार श्रवण राठौर के अंतिम दर्शन उनकी पत्नी और बेटा नहीं कर पाएंगे, जिसकी वजह उनके दोस्त समीर अंजान ने बताई है। आइए आपको बताते हैं इस बारे में।

img

By Vidushi Gupta Last Updated:

संगीतकार श्रवण राठौर के अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाएंगे पत्नी और बेटा, दोस्त समीर अंजान ने बताई वजह

कोरोना वायरस के कहर से पूरे देश में अफरा-तफरी मची हुई है। रोजाना चारों तरफ से आम आदमी से लेकर कई मशहूर सेलेब्स के निधन की खबरें सामने आ रही हैं, जो लोगों को बेहद दुख दे रही हैं। हाल ही में, हिंदी सिनेमा के मशहूर संगीतकार श्रवण राठौर (Shravan Rathod) की कोरोना से मौत की खबर से म्यूजिक इंडस्ट्री में मातम छा गया है। उन्होंने मुंबई के रहेजा हॉस्पिटल में अपनी अंतिम सांस ली और इस तरह से मशहूर संगीतकार नदीम और श्रवण की जोड़ी हमेशा-हमेशा के लिए टूट गई।

पहले ये जान लीजिए कि, श्रवण पिछले 48 घंटों से वेंटिलेटर पर थे और डॉक्टर्स की टीम लगातार उनकी हालत पर नजर बनाए हुई थी। लेकिन लगातार प्रयासों के बावजूद डॉक्टर्स उनकी जिंदगी बचाने में नाकामयाब रहे। डायबिटिक होने के साथ साथ कोरोना से उनके फेफड़े भी संक्रमित हो चुके थे, जिसके कारण उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनके निधन के खबर की पुष्टि अस्पताल की डॉक्टर कीर्ति भूषण ने की। उन्होंने कहा कि, 'श्रवण का निधन रात 9 बजकर 30 मिनट पर हुआ। हमने उन्हें अपनी तरफ से बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन वो इस मुसीबत से उबर नहीं सके'। (ये भी पढ़ें: पवित्रा पुनिया को बॉयफ्रेंड एजाज खान ने दिया ये बर्थडे गिफ्ट, सामने आए सेलिब्रेशन वीडियोज)

अब उनके बेस्ट फ्रेंड समीर अंजान ने श्रवण की मौत के बाद ‘ईटाइम्स’ को बताया कि श्रवण के काफी सारे अंग फेल हो गए थे। उन्होंने कहा, “उनके पूरे शरीर के घाव सड़ गए थे जिस वजह से उनकी बॉडी के अंदर कोरोना ने गहरे जख्म बना दिए।” समीर ने ये भी कहा, “भगवान को ही पता होता है कि आगे क्या होना है। मैं अब आधा हो गया हूं। मैंने काफी सारी सुबह और शाम श्रवण के साथ बिताई हैं।”

समीर ने बताया, “इससे ज्यादा बुरी बात क्या हो सकती है कि आपके प्रियजन भी आपके आसपास नहीं हो सकते, न ही आपकी जिंदगी के आखिरी घंटों में और न ही तब जब आपने दुनिया छोड़ दी हो?” रिपोर्ट के मुताबिक, श्रवण की पत्नी और बड़े बेटे श्रवण के अंतिम संस्कार पहले उनके अंतिम दर्शन नहीं कर पाएंगे। दोनों कोरोना से संक्रमित हैं और उनके अंधेरी ईस्ट के सेवेन हिल्स हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। (ये भी पढ़ें: एकता कौल के बेटे ने देखी हेमा मालिनी की फिल्म 'शोले', मजेदार रिएक्शन देते दिखे वेद)

इसके अलावा, ‘एबीपी न्यूज’ ने जब नदीम की पहली प्रतिक्रिया जानने के लिए उन्हें लन्दन में फ़ोन लगाया, नदीम फोन उठाते ही फूट-फूट कर रोने लगे। रोते-रोते नदीम के मुंह से श्रवण की याद में जो पहले शब्द निकले वो थे, "मैंने अपने छोटे भाई को खो दिया...मैंने अपने छोटे भाई को खो दिया।"

नदीम ने कहा, “वो हमेशा से मुझे एक म्यूजिक पार्टनर मानने की बजाय हमेशा से एक बड़े भाई की तरह ट्रीट किया करता था और मेरे लिए उसके दिल में बहुत इज्जत हुआ करती थी। लोग अक्सर मुझे बताया करते थे कि जब भी मैं नदीम को फोन किया करता था तो वो मेरे सम्मान में उठ खड़ा होता था और उसके बाद ही मुझसे फोन पर बात किया करता था। उसके मन में मेरे लिए इस कदर इज्जत हुआ करती थी जिसे लफ्जों में बयां करना मेरे लिए बहुत मुश्किल साबित हो रहा है।" (ये भी पढ़ें: पवित्रा पुनिया को बॉयफ्रेंड एजाज खान ने दिया ये बर्थडे गिफ्ट, सामने आए सेलिब्रेशन वीडियोज)

श्रवण बॉलीवुड में किसी पहचान के मोहताज नहीं थे। उनकी और संगीतकार नदीम की जोड़ी बॉलीवुड में काफी हिट थी। 90 के दशक में दोनों ने मिलकर एक से बढ़कर एक गाने बनाए थे। दोनों ने पहली बार बॉलीवुड में फिल्म 'जीना सिख लिया' के लिए संगीत दिया था। हालांकि फिल्म 'आशिकी' में दिए गए संगीत से उन्हें बड़ी सफलता मिली थी।

फिलहाल, हम भी श्रवण को नम आंखों से श्रद्धांजलि देते हैं और ईश्वर से उनकी आत्मा को शान्ति देने की प्रार्थना करते हैं।

(फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.