अमिताभ बच्चन ने 'जलसा' में लगवाई है पिता हरिवंश की 'मधुशाला' के आकार की बेंच, दिखाई झलकियां

हाल ही में, दिग्गज एक्टर अमिताभ बच्चन ने अपने घर 'जलसा' में लगाई गई पिता व महान कवि हरिवंश राय बच्चन की किताब 'मधुशाला' के आकार की बेंच की झलकियां साझा की हैं। आइए आपको दिखाते हैं।

img

By Pooja Shripal Last Updated:

अमिताभ बच्चन ने 'जलसा' में लगवाई है पिता हरिवंश की 'मधुशाला' के आकार की बेंच, दिखाई झलकियां

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) एक ऐसे एक्टर हैं, जो अच्छे अभिनेता होने के साथ-साथ एक आदर्श बेटे भी रहे हैं। अमिताभ बच्चन अपने स्वर्गीय पिता हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachchan) के कितने करीब थे और उनका कितना सम्मान करते हैं, यह उनकी सोशल मीडिया पोस्ट से जाहिर होता है। हाल ही में, उन्होंने अपने पिता की 115वीं बर्थ एनिवर्सरी पर उनके सम्मान में बनाई गई उनकी प्रसिद्ध किताब 'मधुशाला' के आकार की एक बेंच की झलक साझा की है, जो एक्टर ने अपने घर 'जलसा' के लॉन में रखी है।

harivansharai bachchan

28 नवंबर 2022 को अमिताभ बच्चन ने अपने एक ब्लॉग पोस्ट को शेयर करते हुए बताया कि उनके घर में पिता हरिवंश की पुस्तक 'मधुशाला' के आकार में एक बेंच बनाई गई है, जिसकी उन्होंने कुछ झलकियां भी साझा की हैं। साथ ही ये भी बताया कि इसे पोलैंड में बनाया गया था। 

madhushala bench

अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में लिखा, ''व्रोकला पोलैंड में किताब 'मधुशाला' के आकार में एक पत्थर की बनी बेंच, जिसे काफी मेहनत और अनोखे तरीके से बनाया गया है, जिसका वजन लगभग एक टन है। इस व्रोकला को पोलैंड से भारत लाया गया है। इसे भारत लाने में मदद करने के लिए जनरल कार्तिकेय जौहरी का धन्यवाद। उन्होंने बाबूजी की इस प्रतिमा को बनवाने में बहुत मेहनत की है और इसके साथ ही उन्होंने बाबूजी के नाम से आधुनिक हिंदी साहित्य का रिसर्च सेंटर भी खोला है।'' इसके साथ ही बिग बी ने कार्तिकेय जौहरी का आभार व्यक्त किया, क्योंकि उन्होंने इस बेंच को भारत लाने में काफी मदद की।

madhushala bench

madhushala bench

बिग बी ने अपने ब्लॉग में आगे लिखा, ''और आज हमारे 'जलसा' के लॉन में उस बेंच का लगना कितना शुभ है।'' इस ब्लॉग के अंत में अमिताभ ने अपने पिता और दिवगंत कवि हरिवंशराय बच्चन के साथ एक पुरानी तस्वीर भी शेयर की है। हरिवंश राय बच्चन ने अपने घर का नाम क्यों रखा था 'प्रतीक्षा', अमिताभ बच्चन ने बताई थी वजह, जानने के लिए पढ़ें ये खबर

amitabh bachchan with his father

बता दें कि हरिवंशराय बच्चन हिंदी साहित्य के महान कवि थे, जिनका जन्म 27 नवंबर 1907 को इलाहाबाद में हुआ था। उन्होंने 20वीं सदी की शुरुआत में अपनी नई कविताओं से साहित्यिक आंदोलन की शुरुआत की थी। हिदी साहित्य में उनके अमूल्य योगदान के लिए उन्हें साल 1976 में 'पद्म भूषण' से सम्मानित किया गया था। 

harivansharai bachchan

फिलहाल, आपको बिग बी द्वारा शेयर की गई ये झलकियां कैसी लगीं? हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

BollywoodShaadis.com © 2023, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.