बड़ी दर्दभरी है अनुराधा पौडवाल की लाइफ: पहले पति फिर प्रेमी और अब बेटे ने छोड़ा साथ

प्लेबैक सिंगर व अपने भक्ति सॉन्ग के लिए फेमस अनुराधा पौडवाल (Anuradha Paudwal) के बारे में वैसे तो फैंस काफी कुछ जानते हैं, लेकिन उनकी लव लाइफ के बारे में बेहद ही कम लोगों को पता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में।

img

By Prakash Joshi Last Updated:

बड़ी दर्दभरी है अनुराधा पौडवाल की लाइफ: पहले पति फिर प्रेमी और अब बेटे ने छोड़ा साथ

आपने कई प्लेबैक सिंगर्स को सुना होगा, जिनकी आवाज सुन आप मंत्रमुग्ध हो जाते होंगे, क्योंकि उन सिंगर्स की आवाज में खास तरह का जादू होता है और उनके गले में खुद सरस्वती मां बिराजती हैं। ऐसी ही एक प्लेबैक सिंगर हैं 'अनुराधा पौडवाल' (Anuradha Paudwal)। अपने भक्ति सॉन्ग के लिए सबसे ज्यादा फेमस अनुराधा पौडवाल ने वैसे तो कई बुलंदियां हासिल की हैं, लेकिन बेहद ही कम लोगों को उनकी लव लाइफ के बारे में पता है। तो आज हम आपको उनकी लव लाइफ के कई अनसुने पहलुओं के बारे में बताने जा रहे हैं।

तेजी से आगे बढ़ा करियर

अनुराधा पौडवाल का जन्म 27 अक्टूबर 1954 को मुंबई में हुआ और शायद ये ही वो वजह थी कि, उनका रुझान फिल्मों की तरफ काफी था। बात अगर उनके सिंगिग करियर की करें तो उन्होंने साल 1973 में फिल्म 'अभिमान' में बॉलीवुड एक्ट्रेस जया भादुड़ी के लिए एक श्लोक गाकर अपने सिंगिंग करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद साल 1976 में आई फिल्म 'कालीचरण' और इसके बाद फिल्म 'आप बीती' में भी उन्होंने गाने गाए। काफी सालों तक उन्होंने फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेरा, और फिर म्यूजिक कंपनी 'टी-सीरीज' के साथ मिलकर उन्होंने काम करना शुरु कर दिया। इसके बाद फिल्म 'लाल दुपट्टा मलमल का', 'आशिकी', 'तेजाब' और 'दिल है कि मानता नहीं' जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में अपनी गायिकी का जलवा बिखेरा। इसके बाद अनुराधा ने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा और सिंगिंग की दुनिया में आगे बढ़ती चली गई। (ये भी पढ़ें: मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की वेडिंग एनिवर्सरी पर वायरल हुईं उनकी शादी की अनदेखी फोटोज, यहां देखिए)

हासिल किए ये खिताब

अपनी गायिकी के दम पर अनुराधा पौडवाल ​3 बार फिल्मफेयर अवॉर्ड से सम्मानित हो चुकी हैं, इसके अलावा भी उन्होंने कई पुरस्कार जीते हैं। लेकिन सबसे हैरानी की बात है कि उन्होंने कभी क्लासिकल सिंगिंग की ट्रेनिंग नहीं ली। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि, उन्होंने क्लासिकल सिंगिंग की बहुत कोशिश की, लेकिन उनसे ये हुआ नहीं। अनुराधा पौडवाल ने उस दौर के सभी बड़े संगीतकारों जैसे- राजेश रोशन, लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल, कल्याणजी-आनंदजी और जयदेव के साथ काम किया है।

इनसे हुई थी शादी

साल 1969 में अनुराधा की शादी अरुण पौडवाल से हुई थी। अरुण एसडी बर्मन के असिस्टेंट और खुद भी एक म्यूजिक कंपोजर थे। शादी के बाद दोनों के घर दो बच्चे (आदित्य और कविता) हुए। 1 नवंबर 1991 को अनुराधा पौडवाल के पति अरुण पौडवाल इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। उनकी मौत एक हादसे में हुई थी। यही नहीं अरुण के जाने से अनुराधा पूरी तरह अकेली हो गई थीं और उन्होंने दोनों बच्चों की जिम्मेदारी खुद ही अकेले उठाई। इसके बाद उनकी मुलाकात गुलशन कुमार से हुई। (ये भी पढ़ें: धीरूभाई अंबानी की बहन त्रिलोचनाबेन के बारे में नहीं जानते होंगे आप, जानें क्या करते हैं उनके पोते)   

गुलशन कुमार के साथ जुड़ा था नाम

उस दौर की म्यूजिक कंपनी 'टी-सीरीज' एक बड़ा नाम था, और अनुराधा पौडवाल ने इस कंपनी के साथ मिलकर कई एल्बम निकाली, जिनमें उन्होंने अपनी सुरीली आवाज दी। अनुराधा को 'टी-सीरीज' के मालिक स्वर्गीय गुलशन कुमार की खोज माना जाता है। कहा जाता है कि गुलशन कुमार उन्हें दूसरी लता मंगशेकर बनाना चाहते थे। गुलशन कुमार ने ही अनुराधा को एक के बाद एक कई गाने दिए, जिन्हें गाकर अनुराधा पौडवाल कामयाबी की नई सीढ़ियां चढ़ी। इसी बीच दोनों के बीच अफेयर की खबरों ने भी खूब जोर पकड़ा था। उस वक्त चर्चाओं का बाजार इस बात को लेकर गर्म था कि गुलशन और अनुराधा दोनों के बीच अफेयर चल रहा है। हालांकि, दोनों में से किसी ने कभी भी इस बारे में खुलकर कुछ भी नहीं कहा। (ये भी पढ़ें: किसी एक्ट्रेस से कम खूबसूरत नहीं हैं धीरूभाई अंबानी की बेटी 'दीप्ति', कुछ ऐसी है इनकी लव स्टोरी)  

गुलशन कुमार की मौत के बाद छोड़ दिए फिल्मी गाने

उस दौर में स्वर कोकिला लता मंगेशकर बड़े सिंगर्स में से एक थीं, लेकिन उस वक्त ऐसा लगता था कि जैसे अनुराधा ने उनको भी पीछे छोड़ दिया हो। यहां तक कि संगीतकार ओपी नैयर ने उस वक्त कहा था कि लता का दौर अब खत्म हो चुका है। इसके बाद अचानक अनुराधा पौडवाल ने ऐलान किया कि वो अब केवल 'टी-सीरीज' के लिए ही गाने गाएंगी। हालांकि, इसके बाद उनकी जिंदगी थोड़ी ठहर सी गई क्योंकि 90 के दशक की गायिका अल्का याग्निक और कविता कृष्णमूर्ति को 'टी-सीरीज' के अलावा कई अन्य जगहों से गाने गाने के मौके मिले, लेकन अनुराधा पौडवाल ने 'टी-सीरीज' के लिए भजन और आरती गाना शुरु कर दिया था। वहीं, जब गुलशन कुमार का निधन हुआ तो इसके बाद तो उन्होंने फिल्मी गानों को पूरी तरह अलविदा कह दिया और वो केवल भजन गाने लगीं। हालांकि, इसके बाद उन्होंने सिगिंग से पूरी तरह दूरी बना ली।

बेटे ने भी छोड़ा साथ

अरुण के जाने से अनुराधा पूरी तरह अकेली हो गई थीं और उन्होंने दोनों बच्चों की जिम्मेदारी खुद ही अकेले उठाई थीं। लेकिन दुर्भाग्य की वजह से उनके बेटे आदित्य ने भी उनका दामन छोड दिया। किडनी फेल होने की वजह 12 सितंबर 2020 को आदित्य की मौत हो गई।

फिलहाल, अनुराधा पौडवाल अपने बेटे आदित्य के निधन के बाद से पूरी तरह टूट चुकी हैं, और अब सिर्फ उनके लिए उनकी बेटी कविता पौडवाल ही एकमात्र सहारा बची हैं। वैसे, अब अनुराधा अपनी बेटी के साथ ही रहती हैं। तो आपको अनुराधा पौडवाल की लव लाइफ कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट: इंस्टाग्राम और Twitter)
latest
latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.