पंकज कपूर की लव लाइफः नीलिमा अजीम से ब्रेकअप के बाद सुप्रिया पाठक पर ऐसे आया एक्टर का दिल

एक्टर पंकज कपूर ने दो शादियां कीं, लेकिन उनकी पहली शादी लंबी नहीं चल सकी। तो चलिए आपको बताएं कि पंकज की लव लाइफ में कब ब्रेक लगा और कब उनकी लाइफ की गाड़ी चल पड़ी।

img

By Ritu Singh Last Updated:

पंकज कपूर की लव लाइफः नीलिमा अजीम से ब्रेकअप के बाद सुप्रिया पाठक पर ऐसे आया एक्टर का दिल

टीवी और बॉलीवुड में अपनी एक्टिंग के दम पर पंकज कपूर (Pankaj Kapoor) ने एक अलग जगह बनाई है। सीरियस रोल के साथ ही वे कॉमेडी में भी अपना फन दिखा चुके हैं। 29 मई 1954 को पंजाब के लुधियाना में जन्मे पंकज कपूर ग्रेजुएशन के बाद ‘नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा’ ज्वाइन किया था। शुरू में उन्हें जब फिल्में नहीं मिलीं तो वे थियेटर से जुड़ गए। थियेटर करते हुए ही उन्हें टीवी सीरियल्स में काम का मौका मिला और उसके बाद बॉलीवुड में भी उन्होंने अपने लिए जगह बना ली। पंकज को उनका पहला प्यार थियेटर ज्वाइन करते ही मिला और जिससे उन्होंने शादी कर ली, लेकिन ये शादी टिकी नहीं। इसके बाद उनका टूटा दिल एक और टूटे दिल से मिला और दूसरी बार उन्होंने शादी की। तो चलिए आपको हम बताएं कि, पंकज कपूर की लव लाइफ में कब-कहां कैसे-कैसे ट्विस्ट आए।

थियेटर के दौरान नीलिमा अजीम से मिले थे पंकज

पंकज कपूर की मुलाकात एक्ट्रेस नीलिमा अजीम से थियेटर के शुरुआती दिनों में ही हुई थी। जब पंकज और नीलिमा की मुलाकात हुई, उस समय नीलिमा डांसर बनना चाहती थीं। नीलिमा प्रोफेशनल कथक डांसर बनना चाहती थीं और पंकज एक्टर बनना चाहते थे। दोनों एक-दूसरे को पहली ही नजर में इतने पसंद आए कि उनकी दोस्ती हो गई और जल्द ही दोनों एक-दूसरे के प्यार में भी पड़ गए। तब पंकज 21 साल के थे और नीलिमा 16 साल की थीं। उसी उम्र में दोनों ने शादी का फैसला भी कर लिया और साल 1975 में दोनों एक-दूजे के हो गए।

शादी के 9 साल बाद हो गए अलग

कपल के शुरुआती दिन तो प्यार भरे बीते। साल 1981 में कपल का बेटा (शाहिद कपूर) हुआ। बेटे के जन्म के कुछ दिनों बाद ही कपल के बीच अनबन शुरू हो गई और दोनों ने अलग होने का फैसला लिया। शादी के 9 साल बाद साल 1984 में दोनों का तलाक हो गया। तलाक के बाद नीलिमा अपने बेटे शाहिद को लेकर दिल्ली में रहने लगीं। तलाक के समय शाहिद की उम्र महज ढाई साल थी। हालांकि, जब शाहिद 10 साल के हुए तब नीलिमा उन्हें लेकर मुंबई आ गईं। (इसे भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा अपनी मां अंजलि की हैं हूबहू कॉपी, ये तस्वीरें हैं सबूत)

मूव ऑन को पचा नहीं पाई थीं नीलिमा

एक मीडिया को दिए इंटरव्यू में नीलिमा अजीम ने कहा था कि, उनके लिए मूव ऑन करना आसान नहीं था। अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने में उन्हें कई साल लग गए थे। ऐसा ही हर इंसान के साथ होता है। दरअसल, रिलेशनशिप में व्यक्ति शुरुआत में जुड़ता भले ही सिर्फ भावनाओं के कारण है, लेकिन बाद में उसकी लाइफ से जुड़ी लगभग हर चीज ही इसमें शामिल हो जाती है। ब्रेकअप के बाद हर चीज उनकी याद दिलाती है, जिससे भूलना और मूव ऑन करना मुश्किल हो जाता है।

नीलिमा अजीम ने इंटरव्यू में कहा था कि, “मैं पंकज से अलग नहीं हुई थी, पंकज ने मूव ऑन किया था। यही सच्चाई है। वह आगे बढ़े और मेरे लिए यह हजम करना बहुत मुश्किल भरा रहा। हालांकि, पंकज के भी अपने तथ्य हो सकते हैं। हम अच्छे दोस्त हैं। शायद मैं 15 साल की थी, जब मेरे और पंकज के बीच दोस्ती हुई। जब हमारा डिवोर्स हुआ, तो यह हम दोनों के लिए ही काफी मुश्किल था। दोस्ती और जुड़ाव के बीच दिल टूटा था। ठीक है, वह अब अपने परिवार के साथ हैं और सेटल हैं। मैं उनके लिए खुश हूं और उनकी सलामती के लिए दुआ करती हूं।"

पंकज ने शाहिद को किया था बहुत मिस

वहीं, पंकज कपूर ने भी एक इंटरव्यू में अपने डिवोर्स पर कहा था कि, “इस बात को समझाना बहुत मुश्किल है। एक पिता के लिए बेटे से अलग होना बहुत मुश्किल होता है। मेरे लिए यह एक इमोशनल लॉस था और मैं इस उम्मीद में जीने लगा था कि एक वक्त ऐसा आएगा जब हम दोनों एक अच्छी बॉन्डिंग शेयर करेंगे। दोनों एक-दूसरे के और करीब आ सकेंगे, और आज मुझे अपने बेटे के साथ बैठते हुए काफी गर्व महसूस होता है। उसका काम देखकर खुशी होती है और परिवार के साथ उसका बॉन्ड देखकर सुकून मिलता है। नीलिमा से डिवोर्स के बाद मैं शाहिद को हर दिन मिस करता था। 18 साल का होने के बाद शाहिद ने मेरे साथ ज्यादा समय बिताना शुरू किया। इसके बाद हमने परिवार के साथ हॉलिडे पर साथ जाना शुरू किया। ऐसे ही करते-करते हमारा बॉन्ड मजबूत हुआ। खासकर तब जब हमने एक साथ नए घर में शिफ्ट किया।” (इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड के ये कपल तलाक के बाद हो चुके हैं अलग, लेकिन आज भी करते हैं एक-दूसरे का सम्मान)

ऐसे मिले दो टूटे हुए दिल

साल 1986 में पंकज की मुलाकात एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक से फिल्म ‘नया मौसम’ के सेट पर हुई थी। हालांकि, ये फिल्म कभी रिलीज नहीं हो सकी, लेकिन इस फिल्म ने दो टूटे हुए दिल को मिला दिया। पंकज से मिलने से पहले सुप्रिया का भी तलाक हो चुका था। दो टूटे हुए दिल एक-दूसरे का सहारा बने और दोनों को प्यार हो गया, लेकिन पंकज ने सुप्रिया को यह साफ कर दिया कि वो अपने बेटे को बहुत चाहते हैं और अपने बेटे के प्यार के बीच में किसी और का दखल बर्दाश्त नहीं करेंगे। सुप्रिया को पिता और बेटे के इस प्यार से कोई दिक्कत नहीं थी। हालांकि, इसके बाद भी पंकज ने सुप्रिया से शादी में जल्दीबाजी नहीं की।

कई मुलाकातों के बाद कर ली शादी

सुप्रिया और पंकज ने अपनी दोस्ती को हर तरह से परखने के बाद तय किया कि उनको शादी कर लेनी चाहिए। कई मुलाकातों में दोनों ने एक-दूसरे की कमी और अच्छाई को जान लिया था। पंकज के घर वाले तो इस रिश्ते के लिए मान गए, लेकिन सुप्रिया की मां दिना पाठक इस रिश्ते के खिलाफ थीं। लेकिन सुप्रिया ने हार नहीं मानी और मां की मर्जी के खिलाफ ही साल 1989 में पंकज से शादी कर ली।

हालांकि, समय के साथ सुप्रिया की मां और पंकज के बीच के रिश्ते भी सुधर गए और उन्होंने पंकज को अपना लिया। शादी के समय सुप्रिया की उम्र 22 साल थी। कपल साल 1990 में बेटी सना और साल 1994 में बेटे के पेरेंट्स भी बन गए।

कपल की बॉन्डिंग है जबरदस्त

शादी के करीब तीन दशक के बाद भी इनके बीच प्यार कम नहीं हुआ। दोनों की बॉन्डिंग आज भी बहुत स्ट्रॉन्ग है। अपनी सफल शादी को लेकर सुप्रिया ने एक इंटरव्यू में कहा था कि, “हमारा मूल मंत्र समझदारी से काम लेना है। पंकज दुनिया के सबसे अच्छे इंसान हैं। वे हर रिश्ते, काम और जिंदगी के प्रति बहुत समर्पित हैं।” सुप्रिया हमेशा से पिता के प्यार के लिए तरसती रहीं, लेकिन 7 साल बड़े पंकज ने उन्हें उस प्यार की भी कमी नहीं होने दी। (इसे भी पढ़ें: रियलिटी शो 'नच बलिए' की ये 12 जोड़ियां रियल लाइफ में बन गए लाइफ पार्टनर, जानें इनके बारे में)

पंकज कपूर के साथ-साथ शाहिद की बॉन्डिंग भी सुप्रिया पाठक के साथ बहुत अच्छी है। तो आपको ये स्टोरी आपको कैसी लगी? हमें जरूर बताएं और कोई सुझाव हो तो अवश्य दें। 

(फोटो क्रेडिटः इंस्टाग्राम)
BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.