सुरैया के साथ देव आनंद की मोहब्बत रह गई थी अधूरी, ये बात बनी थी रिश्ता खत्म होने की वजह

आज हम आपको देव आनंद और सुरैया की ट्रैजिक लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं कि, आखिर क्यों टूटा था दोनों का रिश्ता?

img

By Deepali Srivastava Last Updated:

सुरैया के साथ देव आनंद की मोहब्बत रह गई थी अधूरी, ये बात बनी थी रिश्ता खत्म होने की वजह

फिल्मी दुनिया के सितारों के बीच सेट पर प्यार हो जाना या किसी तकरार के बाद प्यार में पड़ जाना बेहद आम बात है। लेकिन प्यार को मुकाम तक लेकर जाना काफी मुश्किल होता है। बॉलीवुड में ऐसी कई प्रेम कहानियां रही हैं, जो काफी मशहूर थीं लेकिन मंजिल तक नहीं पहुंच सकी। उसी में से एक एक्ट्रेस सुरैया (Suraiya) और एक्टर देव आनंद (Dev Anand) की लव स्टोरी भी थी, जो उस वक्त काफी चर्चा में थी। लेकिन इस प्रेम कहानी का अंत बेहद दुखद हुआ था। आज हम आपको देव आनंद और सुरैया की ट्रैजिक लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों टूटा था दोनों का रिश्ता?

देव आनंद

देव और सुरैया की लव स्टोरी के बारे में हम आपको बताएं, उससे पहले आप देव आनंद के बारे में जान लीजिये। झुककर चलते हुए अपनी अलग स्टाइल में लोगों का दिल जीतने वाले अभिनेता देव आनंद आज भी लोगों के जेहन में जिंदा है। देव आनंद ने न सिर्फ फिल्मों में हाथ आजमाया बल्कि, निर्देशन की दुनिया में भी काम किया था। देव आनंद अपने अभिनय के दम पर फिल्म को हिट कराना बखूबी जानते थे और यही वजह थी कि किसी भी एक्ट्रेस के साथ उनकी जोड़ी दर्शकों द्वारा खूब पसंद की जाती थी। देव आनंद को भारतीय सिनेमा का 'एवरग्रीन रोमांटिक सुपरस्टार' भी कहा जाता था।

अभिनय के अलावा देव साहब ने फैशन की दुनिया में भी एक अलग स्टाइल सेट किया था। उन्होंने लोगों को अलग फैशन सेंस दिया। देव आनंद अपने करियर की शुरुआत में फिल्मों में धोती-कुर्ता पहनते थे, लेकिन बाद में उन्होंने पैंट-शर्ट पहनना भी शुरू किया। गले में स्कार्फ बांधने का उनका स्टाइल उस वक्त खूब कॉपी किया गया था। इसी तरह से अभिनेता ने कई तरह की फैशन स्टाइल को लोगों के बीच सेट किया था। एक इंटरव्यू में देव आनंद ने कहा था कि, 'मैं सोचने-विचारने से संबंध रखने वाले परिवार से आया हूं।' ये बात उनकी पर्सनैलिटी में साफ दिखती थी। (ये भी पढ़ें: सिंगर लकी अली की लव लाइफः 25 साल छोटी ब्रिटिश क्वीन से रचाई तीसरी शादी, फिर भी आज हैं अकेले)

कौन थीं सुरैया?

सुरैया का नाम सिर्फ अच्छी अदाकारा के ही रूप में नहीं बल्कि एक अच्छी गायिका के तौर पर भी लिया जाता है। उनका पूरा नाम सुरैया जमाल शेख़ था। सुरैया अपने की मशहूर एक्ट्रेस होने के साथ ही अच्छी सिंगर भी थी। उन्होंने अपनी कई फिल्मों के गानों में अपनी आवाज़ दी थी। इसके साथ ही सुरैया के खूबसूरती के चर्चे भी कम नहीं थे। मरीन ड्राइव के पास उनके घर ‘कृष्णा महल’ के बाहर उनके फैंस की लाइन लगी रहती थी। कभी-कभी तो मामला यहां तक पहुंच जाता कि भीड़ को संभालने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ता था। सुरैया बहुत कम अपनी फ़िल्मों के प्रीमियर पर जाती थीं, क्योंकि यहां उनके चाहने वालों की भीड़ बेकाबू हो जाती थी। साल 1943 में आई फिल्म ‘इशारा’ ने उन्हें रातोंरात फिल्म स्टार बना दिया। इस फिल्म में सुरैया को अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के साथ बतौर लीड हीरोइन काम करने का मौका मिला। 40 और 50 के दशक में बॉलीवुड की इस पहली ‘ग्लैमर गर्ल’ ने एक से बढ़कर एक फिल्में दी थीं।

ऐसे हुई थी देव आनंद और सुरैया की मुलाकात

साल 1940 में देव आनंद फिल्म इंडस्ट्री में अपने पैर जमा रहे थे और उस वक्त सुरैया मशहूर अभिनेत्री और सिंगर थीं। देव और सुरैया की मुलाकात फिल्म 'विद्या' के सेट पर हुई थी, दोनों की ये एक साथ पहली फिल्म थी। एक इंटरव्यू में देव साहब ने बताया था कि, 'सुरैया और मैं फिल्म में काम करने के दौरान करीब आए थे। वह बहुत अच्छी थीं, मैं उनके दोस्ताना व्यवहार से प्रभावित था। इतनी बड़ी स्टार होकर भी उनमें घमंड नहीं था। मैं उनसे बेइतेहां मोहब्बत करता था। तब मैं जवान था और यह मेरा पहला प्यार था। हम दोनों चुंबक की तरह नजदीक आते चले गए। हम एक-दूसरे को पसंद करते थे और फिर प्रेम करने लगे।' (इसे भी पढ़ें: शादी के बिना 15 साल बड़े चेतन के साथ पत्नी बनकर रहीं प्रिया राजवंश, बेटों ने ही कर दी थी हत्या)

देव आनंद ने सुरैया की बचाई थी जान 

फिल्म 'विद्या' का एक गाना बोट पर फिल्माया जा रहा था, तभी शूटिंग के दौरान नाव पलट गई। देव आनंद ने अपनी जान की बाजी लगाकर सुरैया को डूबने से बचा लिया था। देवानंद ने एक असली हीरो की तरह सुरैया की जान बचाई थी, जिसके बाद सुरैया उनपर जान छिड़कने लगी थीं। हादसे के बाद सुरैया ने कहा था, 'देव सिर्फ पर्दे के ही हीरो नहीं, असल जिंदगी में भी दिलेर हैं।' 

सुरैया ने समंदर में फेंक दी थी देव की अंगूठी

देव और सुरैया का प्यार परवान चढ़ रहा था। देव जल्द से जल्द सुरैया से शादी करना चाहते थे और इसलिए वो अपने प्यार के पास सगाई की अंगूठी लेकर पहुंच गये थे। देव आनंद ने सिमी ग्रेवाल को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि, 'सुरैया बड़ी एक्ट्रेस थीं। हमेशा लोगों से घिरी रहती थीं। उससे मिलने के लिए बहुत जद्दोजहद करनी पड़ती थी। एक दिन हम चुपके से एक पानी टंकी के पास मिले और सुरैया ने मुझसे लिपटकर 'आई लव यू' कहा। इसके बाद मेरे पांव ज़मीन पर नहीं पड़ रहे थे। मैंने सोच लिया था, अब ऐसे नहीं चलेगा। मैंने फौरन सगाई के लिए एक अंगूठी खरीदी। मैं सुरैया के प्यार के लिए तड़प रहा था, लेकिन उसे पता नहीं क्या हुआ। उसने मेरी अंगूठी समंदर में फेंक दी। हालांकि, ये बात मैंने कभी सुरैया से नहीं पूछी कि उसने ऐसा क्यों किया।'

सुरैया और देव की मोहब्बत में मजहब बना अड़चन

सुरैया और देव के दिल की बात बस उनकी अभिनेत्री की मां ही समझ पा रही थीं। वहीं थी, जो दोनों को हौसला दिया करती थीं। सुरैया की मां देवानंद के साथ अच्छी तरह पेश आती थीं, लेकिन सुरैया की नानी तो देव आनंद की शक्ल तक देखना पसंद नहीं करती थीं। सुरैया की नानी नहीं चाहती थीं कि, उनकी नाती का रिश्ता एक हिंदू लड़के के साथ हो। देवानंद की ऑटोबायोग्राफी 'रोमांसिंग विद लाइफ' के लाइफ के मुताबिक मोहब्बत में खिंची मजहब की दीवार तोड़ने पर देव आनंद के साथ-साथ सुरैया भी तैयार थीं, लेकिन रिश्तेदारों के आगे ये मुमकिन हो न सका। (ये भी पढ़ें: साल 2020 में इन 10 सितारों का हुआ ब्रेकअप, इरा खान से लेकर संजीदा शेख तक इनके नाम हैं शामिल)

इस तरह से हुई थी देव-सुरैया की आखिरी मुलाकात

सुरैया और देव के रिश्ते को लेकर उनकी नानी का रवैया बेहद सख्त हो गया था। आलम ये था कि, सुरैया की शूटिंग के दौरान भी नानी उनपर नजर रखती थीं। ऐसे में दोनों का मिलना और बात करना बंद हो गया था। उधर देव अब भी इस आस में थे कि सुरैया उनके पास आएंगी लेकिन सुरैया मजहब के आगे झुक चुकी थीं। देव सुरैया से एक बार मिलकर अपने दिल की बात करना चाहते थे। आखिरी बार सुरैया को मोहब्बत की राह पर चलने को कहना चाहते थे। देवानंद की ऑटोबायोग्राफी के अनुसार, जब देव साहब ने आखिरी बार सुरैया को मिलने के लिए फोन किया तो संयोग से उनकी मां ने फोन उठाया। मां ने दोनों को मिलने की इज़ाजत दे दी। रात के 11:30 बजे देव साहब अपनी दोस्त और मुंबई पुलिस में इस्पेक्टर और ताराचंद के साथ सुरैया के घर गए। घर की छत पर सुरैया पहले से ही मौजूद थीं। सुरैया दौड़कर देव साहब के सीने से लग गईं और रोने लगीं। दोनों आधे घंटे तक रोते रहे और सुरैया से देव साहब की वो आखिरी मुलाकात थी। दोनो ने हमेशा के लिए एक-दूसरे को भूल जाने का फैसला किया।

देव आनंद ने कर ली थी इस एक्ट्रेस से शादी

सुरैया की यादों से निकलकर देव आनंद एक्ट्रेस कल्पना कार्तिक के प्यार में पड़ गए थे। 1954 में फिल्म 'टैक्सी ड्राईवर' के सेट पर देव आनंद फिल्म की नई एक्ट्रेस कल्पना कार्तिक को देखकर उनकी तरफ आकर्षित हो गए थे और सेट पर ही दोनों के बीच प्यार हुआ। फिर एक दिन दोनों ने लंच ब्रेक में शादी कर ली थी। देव कल्पना को खोना नहीं चाहते थे और इसलिए उन्होंने उनसे जल्दी शादी करने का फैसला किया। जीवन के आखिरी दिनों तक कल्पना देव के साथ रहीं। 3 दिसंबर 2011 को हार्ट अटैक पड़ने से देव आनंद का निधन हो गया था।

सुरैया ने कभी नहीं की थी शादी

देव आनंद से अपनी मोहब्बत अधूरी रहने के बाद सुरैया ने किसी और से दिल नहीं लगाया और उन्होंने ताउम्र शादी न करने का फैसला किया। कहा जाता है कि सुरैया, देव की जिंदगी में वापिस आना चाहती थीं, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और देव आनंद कल्पना से शादी कर चुके थे। अपनी अधूरी मोहब्बत और देव आनंद की यादों के सहारे जी रहीं सुरैया ने 31 जनवरी 2004 को 74 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था।

फिलहाल, देव और सुरैया की अधूरी मोहब्बत के किस्से आज भी लोगों के जेहन में हैं। इसके साथ ही दोनों की हिट फिल्में और उनकी एक्टिंग के लोग आज भी दीवाने हैं। तो आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी? हमें ये कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सुझाव हो तो अवश्य दें।

(फोटो क्रेडिट: इंस्टाग्राम)
latest
latest

Loading...

BollywoodShaadis.com © 2021, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.