जब खाने तक के पैसे नहीं थे गोविंदा के पास, इंटरव्यू में कहा था- 'मेरी मां और मैं साथ रोते थे'

बॉलीवुड एक्टर गोविंदा ने एक थ्रोबैक इंटरव्यू में अपने करियर की शुरुआत में किए गए संघर्षों को याद किया था। एक स्टार बनने के लिए उन्होंने अपने जीवन मे किन परिस्थितियों का सामना किया, आइए आपको बताते हैं।

img

By Kanika Singh Last Updated:

जब खाने तक के पैसे नहीं थे गोविंदा के पास, इंटरव्यू में कहा था- 'मेरी मां और मैं साथ रोते थे'

बॉलीवुड के सबसे अतरंगी सुपरस्टार गोविंदा (Govinda) ने हमें ऐसी अनगिनत फिल्में दी हैं, जिन्हें सदियों तक याद रखा जाएगा। 90 के दशक में गोविंदा का जादू सभी के सिर चढ़कर बोल रहा था। उस वक्त बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक ऐसे नायक ने एंट्री की थी, जिन्होंने फिल्मों और एक्टिंग की दुनिया में हलचल मचा दी थी। लेकिन क्या आपको पता है कि, गोविंदा ने अपने करियर के शुरुआती दौर में काफी मुश्किलों का सामना किया है। अगर नहीं, तो आइए सुपरस्टार गोविंदा के उस सफर पर एक नजर डालते हैं।

गोविंदा ने 90 के दशक में 'हीरो नंबर 1' के रूप में अपनी पहचान बनाई। जब वह छोटे थे, तब उन्हें बड़े संघर्षों का सामना करना पड़ा था। उनके जन्म से पहले ही उनका परिवार काफी कठिन समय से गुजर रहा था। उनके परिवार की दयनीय स्थिति को उन्होंने काफी करीब से देखा है। गोविंदा के पिता अरुण आहूजा ने एक फिल्म बनाई थी, जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह विफल हुई थी।

साल 1997 में 'इंडिया टुडे' को दिए गए एक इंटरव्यू में गोविंदा ने याद किया था कि, उन्होंने अपने जीवन में कई कठिन परिस्थितियों का सामना किया है। उन्होंने बताया था कि, एक समय में वो किराने का सामान खरीदने के लिए भी सक्षम नहीं थे और दुकानों पर उनके बकाया होने के कारण उन्हें अपमानित किया गया था। उन्होंने कहा था, “बनिया मुझे घंटों खड़ा करता था, क्योंकि वह जानता था कि, मैं सामान के लिए भुगतान नहीं करूंगा। एक बार मैंने दुकान पर जाने से मना कर दिया। मेरी मां रोने लगी और मैं भी उनके साथ रोने लगा था।" मालूम हो, एक्टर गोविंदा की मां और कृष्णा अभिषेक की नानी निर्मला देवी बीते जमाने की बॉलीवुड एक्ट्रेस और शास्त्रीय गायिका थीं। उन्होंने साल 1940 के दशक में अभिनेता अरूण कुमार आहूजा के साथ शादी रचाई थी।

गोविंदा ने 1986 में फिल्म 'लव 86' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था और फिर उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने 'इल्ज़ाम', 'आंखें', 'राजा बाबू', 'हीरो नंबर 1', 'बड़े मियां छोटे मियां' और 'हसीना मान जाएगी' जैसी हिट फिल्मों के साथ खुद को 80 और 90 के दशक के एक प्रमुख सितारे के रूप में स्थापित किया। उन्होंने अपनी कॉमिक टाइमिंग और डांस मूव्स के लिए काफी तारीफें हासिल कीं। गोविंदा अपने अनोखे डांसिंग स्टाइल के लिए जाने जाते हैं। एक्टर के डांस मूव्स इतने फेमस हैं कि, आज भी लोग उन्हें कॉपी करने की कोशिश करते हैं।

(ये भी पढ़ें: गोविंदा की वाइफ सुनीता आहूजा ने एक्टर से कपिल के शो में मांगा किस, कहा- 'आजा चूम के देख ले')

गोविंदा ने अपनी जिंदगी में एक बार ऑस्कर जीतने का सपना देखा था। इस पर उन्होंने कहा था, "लोग हंसते हैं। वे कहते हैं कि, 'वह ठीक से अंग्रेजी भी नहीं बोल सकता, उसे ऑस्कर क्या मिलेगा?' लेकिन अगर कुछ नहीं से मैं गोविंदा बन सका, तो निश्चित रूप से गोविंदा से मैं कुछ भी बन सकता हूं।”

govinda and wife

(ये भी पढ़ें: गोविंदा ने पत्नी सुनीता को 62 लाख की BMW कार करवा चौथ पर की गिफ्ट, एक्टर ने शेयर कीं तस्वीरें)

गोविंदा आखिरी बार बड़े पर्दे पर फिल्म 'रंगीला राजा' में नजर आए थे। अब, वो एक म्यूजिक वीडियो लेकर आ रहे हैं। उनका पहला सिंगल ट्रैक 'टिप टिप पानी बरसा' था, जिसे उन्होंने चश्मा चड्ढा के साथ किया था। उनका तीसरा गाना 'हैलो' जल्द ही रिलीज होगा।

govinda

गोविंदा ने साल 1987 में अपनी पत्नी सुनीता आहूजा के साथ शादी रचाई थी। उनके दो बच्चे टीना आहूजा और यशवर्धन आहूजा हैं, जो कुछ ही सालों बाद फिल्म इंडस्ट्री में आने की तैयारी कर रहे हैं। कपल मौजूदा समय में अपने परिवार के साथ काफी खुश है। गोविंदा और सुनीता भी अपनी मैरिड लाइफ को एंजॉय कर रहे हैं।

govinda family

फिलहाल, बॉलीवुड के चहेते सितारे गोविंदा की फिल्में आपको कैसी लगती हैं? हमें कमेंट में अवश्य बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सुझाव हो तो जरूर दें।

BollywoodShaadis.com © 2022, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.