सुरिंदर कपूर से जुड़ी अनसुनी बातें: कभी राज कपूर के गैराज में रहती थी डायरेक्टर की फैमिली

भारतीय सिनेमा के इतिहास में ऐसे कई डायरेक्टर्स थे, जिन्होंने फिल्में तो बनाईं, लेकिन उनका नाम आज भी कहीं गुम है। ऐसे ही एक फिल्म निर्माता थे सुरिंदर कपूर। आइए आपको उनके बारे में विस्तार से बताते हैं।

img

By Kanika Singh Last Updated:

सुरिंदर कपूर से जुड़ी अनसुनी बातें: कभी राज कपूर के गैराज में रहती थी डायरेक्टर की फैमिली

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में ऐसे कई नाम हैं, जिनके लोग दिवाने हैं। अनगिनत कलाकारों के बीच ऐसे कई चमकदार चेहरे हैं, जिन्हें उनके फैंस बेहद पसंद करते हैं। इनमें से कुछ एक्टर्स हैं, कुछ डायरेक्टर्स हैं, तो वहीं, कुछ प्रोड्यूसर्स। ये सभी आम तौर पर कलाकार या स्टार के रूप में जाने जाते हैं। ऐसे ही एक जिंदादिल पर्सनैलिटी थे, फिल्म डायरेक्टर सुरिंदर कपूर (Surinder Kapoor)। शायद ये नाम हर कोई जानता न हो, लेकिन सुरिंदर कपूर ने भारतीय सिनेमा को जो फिल्में दी हैं, उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा। आज हम आपको बॉलीवुड इंडस्ट्री के चर्चित डायरेक्टर सुरिंदर कपूर के बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे।

मुश्किलों भरा था शुरुआती जीवन

सुरिंदर कपूर अपनी पत्नी निर्मल कपूर और बच्चों अनिल व बोनी कपूर के साथ पैसे कमाने के लिए साल 1950 में मुंबई आए थे। तब वो महज 27 साल के थे। मुंबई उनके लिए बिल्कुल नया था और उस वक्त उन्हें नौकरी के लिए दर-दर भटकना पड़ा था। मुंबई जैसे बड़े शहर में रहने के लिए सुरिंदर के पास कोई ठिकाना नहीं था। ऐसे में, उन्हें अपने शुरुआती दौर में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

राज कपूर ने गैराज में दी थी रहने की जगह

अभिनेता अनिल कपूर के पिता सुरिंदर कपूर और फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने एक्टर पृथ्वीराज कपूर, दोनों दूर के भाई थे। मुंबई आने के बाद सुरिंदर कपूर ने पृथ्वीराज कपूर के बेटे व एक्टर राज कपूर से मदद मांगी थी। इसके बाद राज कपूर ने उन्हें अपने गैराज में रहने की जगह दे दी थी। रिपोर्ट्स की मानें, तो सुरिंदर कपूर कुछ दिन वहां रहने के बाद मुंबई के ही एक चॉल में शिफ्ट हो गए थे। उन्होंने वहां एक कमरा किराए पर लिया था और अपने परिवार के साथ रहने लगे थे।

'मुगल-ए-आजम' में बने असिस्टेंट डायरेक्टर

सुरिंदर कपूर के मुंबई आते ही पृथ्वीराज कपूर ने उन्हें फिल्म 'मुगल-ए-आजम' के सेट पर सहायक निर्देशक की नौकरी दिलवाई थी। कुछ दिनों तक नौकरी करने के बाद उनका वहां मन नहीं लगा, क्योंकि वो अपना ज्यादातर समय ताश खेलने में बिताते थे। काफी लंबे समय तक फिल्म को करने के बाद उन्होंने उसे बीच में ही छोड़ दिया था। हालांकि, इस बीच सुरिंदर की दोस्ती अभिनेता शम्मी कपूर और अभिनेत्री गीता बाली से हो गई थी। इसलिए, उन दोनों ने सुरिंदर का करियर बनाने में काफी मदद की थी।

फिल्मी दुनिया में नहीं मिली सफलता

अपनी पहली फिल्म में बतौर फिल्म डायरेक्टर सुरिंदर, गीता बाली को ही कास्ट करना चाहते थे, क्योंकि आर्थिक रूप से गीता ने उनकी काफी मदद की थी। इसलिए उन्होंने ऐसा ही किया। उस वक्त गीता अपने रिटायरमेंट की कगार पर थीं, बावजूद इसके सुरिंदर ने उन्हें अपनी पहली फिल्म में कास्ट किया था। लेकिन अफसोस कि, वो फिल्म चल नहीं पाई और उनके हाथ केवल निराशा ही लगी। हालांकि, उसके बाद भी सुरिंदर ने कई फिल्में बनाईं, लेकिन किसी ने भी कुछ खास कमाल नहीं दिखाया।

ज्यादातर फिल्में रहीं फ्लॉप

(ये भी पढ़ें- जब राज बब्बर ने कबूली थी रेखा से अफेयर की बात, दूसरी पत्नी स्मिता पाटिल की मौत के बाद आए थे करीब)

सुरिंदर कपूर की ज्यादातर फिल्में फ्लॉप रहीं, लेकिन उन्होंने अंत तक अपनी कोशिश नहीं छोड़ी और लगातार अपने काम में लगे रहे। उस समय उन्होंने अपने सारे पैसे एक फिल्म के को-प्रोड्यूसर के तौर पर लगा दिए थे। हालांकि, उस फिल्म से सुरिंदर की किस्मत चमक गई और वो फिल्म बड़े पर्दे पर काफी अच्छी चली थी। इसके बाद सुरिंदर और उनके परिवार के दिन बदल गए थे। उनके करीबी बताते हैं कि, अक्सर सुरिंदर और राज कपूर एक-दूसरे की फैमिली गेदरिंग में मिला करते थे।

खुद को मानते रहे असफल निर्माता

कुछ दिनों के बाद, सुरिंदर अपने गांव वापस चले गए थे। लेकिन दोबारा मुंबई आने के बाद वो पहले सायन और बाद में चेंबूर में रहे थे। उन्हें भारतीय सिनेमा में ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ा, क्योंकि उन्होंने कभी काम करना नहीं छोड़ा। हालांकि, साल 2009 में एक इंटरव्यू के दौरान सुरिंदर ने कहा था कि, उनकी जिंदगी भले ही सुख-चैन से बीती हो, लेकिन उन्होंने अपने आप को एक बेहतर डायरेक्टर व प्रोड्यूसर के तौर पर कभी नहीं देखा। वो खुद को एक असफल निर्माता मानते रहे।

सुरिंदर कपूर की फैमिली

(ये भी पढ़ें: जब खाने तक के पैसे नहीं थे गोविंदा के पास, इंटरव्यू में कहा था- 'मेरी मां और मैं साथ रोते थे')

सुरिंदर कपूर ने भले ही अपने जीवन में कई मुश्किलों का सामना किया हो, लेकिन उनके बच्चों ने अपने पिता का नाम खूब रोशन किया है। सुरिंदर के परिवार में उनके तीन बेटे बोनी कपूर (प्रोड्यूसर), अनिल कपूर (एक्टर) और संजय कपूर (एक्टर) हैं, जिनमें से बोनी कपूर के चार बच्चे अर्जुन व अंशुला कपूर, खुशी व जान्हवी कपूर हैं। वहीं, अनिल कपूर के तीन बच्चे सोनम, रिया और हर्षवर्धन कपूर हैं। इनके सबसे छोटे भाई संजय कपूर के दो बच्चे शनाया और जहान कपूर हैं। परिवार के लगभग सभी सदस्य इंडस्ट्री में अपना हुनर दिखा रहे हैं।

फिलहाल, भले ही सुरिंदर कपूर अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनकी फैमिली आज भी उनके विरासत को आगे बढ़ा रही है। वैसे, आपको फिल्म निर्माता का प्रेरणादायक जीवन कैसा लगा? हमें कमेंट में अवश्य बताएं।

BollywoodShaadis.com © 2022, Red Hot Web Gems (I) Pvt Ltd, All Rights Reserved.